scriptInternet complicating 'logistics' | इंटरनेट में उलझी 'रसद' | Patrika News

इंटरनेट में उलझी 'रसद'

रसद विभाग की ऑन लाइन रसद सामग्री वितरण प्रणाली इंटरनेट में उलझ गई है। हालात ये हैं कि नेटवर्क की समस्या के कारण राशन डीलर पॉश मशीन से सामग्री का वितरण नहीं कर पा रहे हैं।

जयपुर

Published: March 15, 2016 04:35:29 am

रसद विभाग की ऑन लाइन रसद सामग्री वितरण प्रणाली इंटरनेट में उलझ गई है। हालात ये हैं कि नेटवर्क की समस्या के कारण राशन डीलर पॉश मशीन से सामग्री का वितरण नहीं कर पा रहे हैं। इसके चलते एक उपभोक्ता को सामग्री वितरण करने में ही आधा घंटा लग रहा है। कई बार तो उपभोक्ताओं को बैरंग लौटना पड़ता है। 

सूत्रों के अनुसार राज्य सरकार ने रसद सामग्री वितरण करने में कालाबाजारी रोकने एवं पात्र उपभोक्ताओं को हर हाल में राशन सामग्री वितरण करने के उद्देश्य से टोंक जिले में जनवरी, 2016 से सभी राशन डीलरों को पॉश मशीन का वितरण किया है। 

इन मशीनों को ऑन लाइन करने के लिए इंटरनेट से जोड़ा गया, लेकिन जब से ये मशीनें आईं हैं, तब से अधिकतर बार सर्वर डाउन रहने एवं नेटवर्किंग की समस्या के कारण ये मशीनें काम नहीं कर रही हैं। 

ये है स्थिति
जिले में 558 राशन डीलर है। सभी डीलरों को पॉश मशीन का वितरण किया गया है। मशीन से वितरण प्रणाली लागू होने के बाद राशन डीलरों ने सिम खरीद कर थ्री-जी वाली पॉश मशीनों में लगा ली, लेकिन अब पॉश मशीन में नेटवर्क नहीं आ रहा है। 

इसके चलते मशीन चल नहीं पा रही है। इसके अलावा पॉश मशीन उपभोक्ताओं के प्रिंगर प्रिंट भी नहीं ले रही है। इसके चलते उपभोक्ताओं को कई बार फिंगर-प्रिंट मिलाना पड़ रहा है। कईबार आधार कार्ड भी नहीं मिल पाता है। इन सबके बाद मशीन सामग्री की जानकारी भी नहीं निकाल रही है। इसमें उपभोक्ता को कितनी सामग्री दी, कितनी राशि आदि शामिल हैं। 

अलग-अलग कम्पनी के हैं कनेक्शन
पॉश मशीन को चालू करने के लिए राशन डीलरों ने विभिन्न मोबाइल कम्पनियों के कनेक्शन (सिम) ले रखे हैं, लेकिन अधिकतर कनेक्शनों में नेटवर्किंग की समस्या आ रही है।

67 प्रतिशत हो चुके हैं ऑनलाइन
रसद विभाग ने जिले के 3 लाख 99 हजार 792 में से 2 लाख 68 हजार 218 उपभोक्ताओं को ऑन लाइन कर दिया है। ऐसे में 67.09 प्रतिशत उपभोक्ता ऑन लाइन होकर पॉश मशीन से सामग्री ले रहे हैं। शेष उपभोक्ताओं को भी ऑन लाइन किया जा रहा है।

नेटवर्क की समस्या है
 राशन डीलरों को पॉश मशीन से सामग्री वितरण के निर्देश दिए गए हैं, लेकिन मशीन में नेटवर्किंग की परेशानी आ रही है। इसके लिए निदेशालय को पत्र लिखा गया है। 
 डालचंद खटीक, जिला रसद
अधिकारी, टोंक।

जिले में उपभोक्ताब्लॉक उपभोक्ता
देवली 64926
मालपुरा 70918
निवाई 63928
उनियारा 50656
टोंक 107315
टोडारायसिंह 42046
स्रोत रसद विभाग

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

Cash Limit in Bank: बैंक में ज्यादा पैसा रखें या नहीं, जानिए क्या हो सकती है दिक्कततत्काल पैसों की जरुरत है? तो जानिए वो 25 बैंक जो दे रहे हैं सबसे सस्ता Personal LoanNew Maruti Alto का इंटीरियर होगा बेहद ख़ास, एडवांस फीचर्स और शानदार माइलेज के साथ होगी लॉन्चVIDEO: राजस्थान में 24 घंटे के भीतर बारिश का दौर शुरू, शनिवार को 16 जिलों में बारिश, 5 में ओलावृष्टिश्री गणेश से जुड़ा उपाय : जो बनाता है धन लाभ का योग! बस ये एक कार्य करेगा आपकी रुकावटें दूर और दिलाएगा सफलता!प्रदेश में कल से छाएगा घना कोहरा और शीतलहर-जारी हुआ येलो अलर्टइन 4 राशि की लड़कियां अपने पति की किस्मत जगाने वाली मानी जाती हैंToyoto Innova से लेकर Maruti Brezza तक, CNG अवतार में आ रही है ये 7 मशहूर गाड़ियां, जानिए कब होंगी लॉन्च

बड़ी खबरें

Assembly Election 2022: चुनाव आयोग का फैसला, रैली-रोड शो पर जारी रहेगी पाबंदीगोवा में बीजेपी को एक और झटका, पूर्व सीएम लक्ष्मीकांत पारसेकर ने भी दिया इस्तीफासुरक्षा एजेंसियों की भुज में बड़ी कार्यवाही, 18 लाख के नकली नोटों के साथ डेढ़ किलो सोने के बिस्किट किए बरामदUP Assembly Elections 2022 : टिकट कटा तो बदली निष्ठा, कोई खोल रहा अपने नेता की पोल तो कोई दे रहा मरने की धमकीपीएम मोदी ने की जिला अधिकारियों से बात, बोले- आजादी के 75 साल बाद भी कई जिले रह गए पीछे, अब हो रहा अच्छा कामUP Election 2022 : कोविड अस्पताल के निरीक्षण के बहाने सीएम योगी ने भाजपा नेताओं को दिया जीत का मंत्रनेता प्रतिपक्ष की डीजीपी को चेतावनी, धरियावद थाने का स्टाफ नहीं हटाया तो धरने पर बैठूंगाजम्मू-कश्मीरः शोपियां एनकाउंटर में सुरक्षाबलों को बड़ी कामयाबी, एक आतंकी ढेर
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.