चुनाव आयोग देगा सबूत, जिसका दबाया बटन उसी को पड़ा वोट

Akanksha Singh

Publish: Oct, 19 2016 02:30:00 (IST)

Lucknow, Uttar Pradesh, India
चुनाव आयोग देगा सबूत, जिसका दबाया बटन उसी को पड़ा वोट

ईवीएम में गडबड़ी की नहीं रहेगी आशंका, मिलेगी वोटिंग रसीद।

झांसी। इलेक्ट्रॉनिक वोटिंग मशीन (ईवीएम) से कराए जाने वाले मतदान में गड़बड़ी की आशंका को लेकर उठने वाले सवालों को निर्मूल साबित करने के लिए भारत निर्वाचन आयोग ने नया तरीका निकाला है। इस तकनीक के जरिेए मतदाता को इस बात का सबूत मिलेगा कि उसने जिस प्रत्याशी के सामने वाला बटन ईवीएम में दबाया है, उसी को वोट पड़ा है। इसके लिए मतदाता को एक वोटिंग रसीद दी जाएगी, जिसमें यह अंकित होगा कि उसने किसे वोट दिया है। हालांकि, मतदान की गोपनीयता बनाए रखऩे के लिए इस पर्ची को देखऩे के बाद मतदाता को इसे मतदान अधिकारी को लौटाना अनिवार्य रहेगा। फिलहाल, इस योजना में शहरी क्षेत्र के मतदान केंद्र शामिल होंगे। निर्वाचन आयोग की इस योजना में झांसी नगर विधानसभा के सभी बूथों को शामिल किया गया है।


इस संदेह को किया जा सकेगा दूर
मतदान में ईवीएम के प्रयोग के साथ ही इसको लेकर अफवाह सामने आई थी। एक अफवाह यह भी थी कि ईवीएम में फीडिंग करने से वोट किसी एक प्रत्याशी को दिलाए जा सकते हैं यानी वोटिंग मशीन में बटन कोई भी दबाइए, वोट पहले से फीडिंग वाले प्रत्याशी को ही मिलेगा। मतदाताओं के मन से इस तरह के संशय को खत्म करने के लिए अब निर्वाचन आयोग ने इसके लिए वीवी पैट (वोटर वैरिफिकेशन पेपर ऑडिट ट्रेल) तकनीक का इस्तेमाल करना शुरू किया है। इस तकनीक में ईवीएम के कंट्रोल पैनल यूनिट से वीवी-पैट को जोड़ा जाएगा। मतदाता के मतदान करने के साथ ही वीवी पैट से एक रसीद निकलकर आएगी। इससे मतदाता को पता चल जाएगा कि उसने वोट किसको दिया है। इससे कन्फर्म हो जाएगा कि मतदाता ने जिस प्रत्याशी के चुनाव चिन्ह के सामने का बटन दबाया है, वोट भी उसी को पड़ा है। 


लौटानी होगी रसीद
रसीद देखने के बाद मतदाता इसे पीठासीन अधिकारी को देगा। इसे सुरक्षित रख लिया जाएगा। यह रसीद पूरी तरह से गोपनीय रखी जाएगी, ताकि मतदान की गोपनीयता बनी रहे। 


झांसी के 393 बूथ पर शुरू होगी प्रक्रिया
निर्वाचन आयोग की यह वीवी पैट वाली प्रक्रिया फिलहाल झांसी विधानसभा क्षेत्र के पूरे 393 पोलिंग बूथ पर लागू होगी। इन बूथ की ईवीएम के साथ वीवी पैट लगाया जाएगा। इसके लिए तमिलनाडु से वीवी पैट झांसी आने वाले हैं। नवंबर में वीवी पैट आने के बाद इसे ईवीएम से जोड़कर मतदाताओं के लिए इसका प्रदर्शन भी किया जाएगा। 

  

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned