लिंग जांच के नाम पर लोगों को ठग रहा था,चढ़ा पुलिस के हत्थे

Yuvraj Singh

Publish: Dec, 02 2016 10:10:00 (IST)

Jaipur, Rajasthan, India
लिंग जांच के नाम पर लोगों को ठग रहा था,चढ़ा पुलिस के हत्थे

रूटिन से अल्ट्रासाऊंड करवाकर बताया गर्भ में लड़का, स्वास्थ्य विभाग झज्जर की टीम ने लिंग जांच की सूचना पर छापा

जींद। स्वास्थ्य विभाग झज्जर की टीम ने लिंग जांच की सूचना मिलने पर वीरवार को स्कीम नम्बर 19 स्थित नीलम अल्ट्रासाऊंड केंद्र पर छापेमारी की। छापेमारी के दौरान अल्ट्रासाऊंड केंद्र में कोई अनियमता नहीं पाई गई। बल्कि पूरे प्रकरण का सूत्रधार दलाल निकला, जो लिंग जांच के नाम पर लोगों को ठग रहा था। छापामार दल ने दलाल के कब्जे से आठ हजार रुपये की राशि बरामद कर पुलिस के हवाले कर दिया। शहर थाना पुलिस मामले की जांच कर रही है।

झज्जर स्वास्थ्य विभाग को शिकायत मिली थी कि जींद स्कीम नम्बर 19 स्थित नीलम अल्ट्रासाऊंड में मोटी रकम लेकर लिंग की जांच की जा रही है। स्वास्थ्य विभाग ने डिकोए के माध्यम से झज्जर निवासी एजेंट कुलवंती से संपर्क साधा और कुलवंती ने दलाल गांव पौली निवासी सतपाल से संपर्क करवाया।

सतपाल ने लिंग जांच के लिए दस हजार रुपये की डिमांड रखी। झज्जर सामान्य अस्पताल के डिप्टी सिविल सर्जन एवं नोडल अधिकारी राकेश के नेतृत्व में पांच सदस्यीय छापामार टीम का गठन किया और डिकोए के माध्यम से सतपाल से संपर्क साधा। पहले डिकोए को झज्जर ले जाया गया, फिर कलानौर तथा महम बाद में जींद बस अड्डा पर बुलाया गया। जहां पहले से दलाल सतपाल मिला और उन्हें नीलम अल्ट्रासाऊंड केंद्र पर ले गया। दस हजार रुपये लेकर डिकोए का अल्ट्रासाऊंड करवाया गया और सतपाल ने गर्भ में लड़का होने की बात कही। उसी दौरान छापामार दल अंदर घुस गया और मशीन को कब्जे में ले दलाल सतपाल को काबू कर लिया। तलाशी लिए जाने पर उसकी जेब से 9200 रुपये बरामद हुए।

जांच के दौरान सामने आया कि अल्ट्रासाऊंड संचालक ने रूटिन से अल्ट्रासाऊंड किया था और न ही उसने लिंग के बारे में कोई बात कही थी। साथ ही खुलासा हुआ कि अल्ट्रासाऊंड के लिए सतपाल ने दो हजार रुपये काऊंटर पर दिए थे, जिसमें से 800 रुपये की रसीद काटकर 1200 रुपये वापस लौटा दिए थे। इसके अलावा आठ हजार रुपये पहले ही सतपाल ने अपनी जेब में डाल लिए थे।

छापामार दल का नेतृत्व कर रहे डा. राकेश ने बताया कि अल्ट्रासाऊंड केंद्र में कोई अनियमता नहीं पाई गई। असली सूत्रधार दलाल सतपाल रहा है। जिसके कब्जे से राशि को बरामद कर लिया गया है और पुलिस को शिकायत देकर सतपाल के खिलाफ कार्रवाई की सिफारिश की गई है। नीलम अल्ट्रासाऊंड केंद्र संचालिका नीलम ने बताया कि उन्होंने रूटिन अल्ट्रासाऊंड किया था। लिंग के बारे में कोई बातचीत नहीं हुई। जो व्यक्ति महिला के साथ पहुंचा था उसी की पूरी कारिस्तानी थी। लिंग की जांच करना कानून जुर्म है।

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned