क्लास में हो रही थी पढ़ाई, अचानक गिरा छत का प्लास्टर, तीन बच्चे गंभीर

deepak dilliwar

Publish: Oct, 18 2016 11:21:00 (IST)

Kabirdham, Kawardha, Chhattisgarh, India
क्लास में हो रही थी पढ़ाई, अचानक गिरा छत का प्लास्टर, तीन बच्चे गंभीर

जर्जर स्कूल भवन से छत का प्लास्टर अचानक भरभराकर गिर गया। इस दौरान बच्चे कक्षा में ही बैठे थे। इससे तीन बच्चों को चोटें भी आई है।

कबीरधाम. बच्चों को अच्छी शिक्षा के लिए स्कूल कॉलेज का निर्माण कराया गया, लेकिन काफी पुराना हो चुके स्कूल भवन का समय समय पर मरम्मत नहीं होने के कारण पूरी तरह जर्जर हो चुका है। इसका उदाहरण ग्राम चचेड़ी में देखने को मिला है। जर्जर स्कूल भवन से छत का प्लास्टर अचानक भरभराकर गिर गया। इस दौरान बच्चे कक्षा में ही बैठे थे। इससे तीन बच्चों को चोटें भी आई है।

विभाग से लेकर शाला विकास समिति की उदासीनता ग्राम चचेड़ी में देखने को मिल रहा है। इसके चलते छात्र-छात्राओं को जान हथेली में रखकर अध्यापन कार्य करना पड़ रहा है। इसे विडंबना नहीं तो और क्या कहेंगे। एक ओर जहां प्रशासन शिक्षा को बढ़ावा देने तरह तरह की योजना बना रही है। वहीं दूसरी ओर विभाग की अनदेखी के कारण बच्चों को जर्जर स्कूल भवन में बैठकर शिक्षा ग्रहण करना पड़ रहा है। कवर्धा विकासखंड अंतर्गत ग्राम चचेड़ी के 16 साल पुराना मिडिल स्कूल में 80 छात्र-छात्राएं अध्ययनरत है। छात्र-छात्राएं अपने नियमित समय पर स्कूल पहुंचे। प्रार्थना के बाद विद्यार्थी अपने अपने कक्षा में अध्यापन के लिए बैठ गए। इसी बीच कक्षा आठवीं का छत का प्लास्टर भरभराकर गिर गया।  घटना के समय कक्षा आठवीं       के 30 बच्चे कक्षा में ही बैठे        थे। इस घटना में तीन बच्चे को चोटें भी आई है। अचानक छत का प्लास्टर भरभराकर गिरने से कक्षा में बैठे बच्चे बाल बाल बच गए। छत प्लास्टर अगर किसी छात्र के ऊपर गिरा होता तो बड़ा हादसा हो सकता था।

बड़ा हादसा टला, तीन बच्चों को आई चोटें
स्कूल भवन का छत अचानक भरभराकर गिरने से कक्षा में बैठे आठवीं के तीन छात्रों को मामलू चोटें आई है। ग्राम चचेड़ी में संचालित मिडिल स्कूल में तीन कक्ष है, जिसकी स्थिति बेहद खराब है। छत का प्लास्टर टूटकर गिरने लगा है। इसके बाद भी विभाग कोई ध्यान नहीं दे रहे हैं। जबकि भवन के मरम्मत के लिए कई बार आवेदन दिया जा चुका है।

कबीरधाम विकासखंड शिक्षा अधिकारी टीआर साहू ने बताया कि छत का प्लास्टर गिरने की जानकारी मिली है। भवन राजीव गांधी मिशन के तहत बना है जो काफी पुराना हो चुका है। इसके मरम्मत के लिए प्रस्ताव भेजा गया है। घटना के बाद प्राथमिक शाला में कक्षा लगाने को कहा गया है। 

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned