डीजल भरे ड्रम में हुआ धमाका, 5 की हालत गम्भीर

Lucknow, Uttar Pradesh, India
डीजल भरे ड्रम में हुआ धमाका, 5 की हालत गम्भीर

मूसानगर कस्बा में उस समय हड़कम्प मच गया। 

कानपुर देहात। मूसानगर कस्बा में उस समय हड़कम्प मच गया। जब अचानक एक बिल्डिंग की दुकान में अचानक तेज धमाके के साथ आग लग गयी। धमाका सुन लोग चौकन्ना हो गये। देखा तो दुकान पर रखे एक ड्रम में आग लगी थी।धमाके में निकले डीजल के फव्वारे जहां तक पहुंचे, वहां आग ने अपनी पकड़ बना ली और कुछ दूर खड़े घटना से अंजान लोग भी आग की चपेट में आ गये। एका एक लोग पानी लेकर दौड़े, लेकिन कुछ लोगों ने समझदारी दिखाते हुये दमकल को फोन पर सूचना दी। जिसके बाद मौके पर पहुंचे दमकल कर्मियों ने आग पर काबू पाया। जिसके बाद आग से बुरी तरह झुलसे लोगों को जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया। जिसमें गम्भीर टप्पू, राहुल, मुन्ना को प्राथमिक इलाज के बाद कानपुर रेफर किया गया।

ड्रम में गैस बनने से हुआ था धमाका

मूसानगर थानाक्षेत्र के रसूलपुर फत्तेपुर के गोरेलाल की कस्बा में मुगल रोड किनारे दुकान है। सजेती कानपुर नगर के कटरा मकरंदपुर गांव के प्रधान सूबेदार सिंह का 20 वर्षीय पुत्र राहुल, भाई रवी प्रताप सिंह के साथ ट्रैक्टर के हाइड्रोलिक पर बंधा डीजल भरा ड्रम लेकर गोरेलाल की दुकान पहुंचे और ड्रम का ढक्कन न खुलने पर उसे गैस कटर से काटने के लिये कहा। इसके बाद दुकान का कारीगर टप्पू पुत्र नन्हा निवासी घुघुआ घाटमपुर ढक्कन काटने लगा। ढक्कन काटते समय ड्रम मे गैस बन गयी और तेज धमाके के साथ ड्रम मे विस्फोट हो गया और आग लग गयी।

ड्रम फटता तो हो सकता था बडा हादसा

तेज विस्फोट के बाद ड्रम से निकला डीजल का फब्बारा दूर तक जा गिरा, जिससे ढक्कन काट रहे कारीगर टप्पू, राहुल के अतिरिक्त बदले सिमनापुर सजेती कानपुर निवासी मुन्ना गम्भीर रूप से झुलस गये। आग की मार दूर तक होने के चलते दूर खड़ा राहुल का भाई रवी एवं दुकानदार गोरेलाल भी मामूली झुलस गया। देखते ही देखते आग ने विकराल रूप ले लिया। वही समीत खडा नलकीपुर घाटमपुर निवासी बाबू सिंह का ट्रैक्टर भी आग की चपेट मे आ गया और समीप खडे दूसरे ट्रैक्टर को भी आग ने अपनी चपेट मे ले लिया। सूचना पर पहुंचे दमकल कर्मियों ने एक घंटे की कडी मसक्कत के बाद आग पर काबू पाया| पुलिस ने झुलसे गोरेलाल व रवी प्रताप को सीएचसी पुखरायां भेजा। वहीं गम्भीर राहुल, मुन्ना, टप्पू को जिला अस्पताल मे भर्ती कराया। जिला अस्पताल मे राहुल, मुन्ना, टप्पू की हालत नाजुक देख प्राथमिक उपचार कर कानपुर रेफर कर दिया गया है।

तेज धमाके के बाद आग से सहमे लोग

तेज धमाके के बाद ड्रम में लगी आग एवं उसके बाद समीप खडे ट्रैक्टरों मे आग लगने के बाद आग ने विकराल रूप ले लिया था। जिससे आस पास अफरा तफरी का माहौल बन गया। आग की तेज लपटे देख लोग सहमे दिखे। वहीं वाहन सवार इधर उधर भागते नजर आये। पड़ोस में लोग घरो से निकलकर बाहर भागे।

आग बुझाने के नही थे साधन

कस्बा की बिल्डिंग की दुकान मे घटना के बाद देखा गया कि दुकान मे आग बुझाने के इंतजाम नही थे। जब तक दमकल कर्मियों ने मौके पर पहुंचकर आग बुझाई, तब तक दो ट्रैक्टर पूरी तरह जल चुके थे। अग्निशमन अधिकारी शिवदरस ने बताया कि घटनास्थल पर न तो पानी की व्यवस्था थी और न ही आग रोकने के लिये मिट्टी व बालू का इंतजाम किया गया थ ट्रैक्टर मे बिल्डिंग करने के बैट्री के तार न हटाना और डीजल का ड्रम न हटाने की लापरवाही भी हादसे का कारण बनी।

अग्निशमन अधिकारी शिवदरस ने बताया कि लापरवाही के चलते हादसा हुआ है। मामले की जांच की जा रही है, वहीं अपर पुलिस अधीक्षक मनोज सोनकर ने बताया कि आग की चपेट में आकर झुलसे लोगो को इलाज के लिये भेजकर पुलिस घटना की छानबीन कर रही है। पीड़ितों की तरफ से तहरीर मिलने पर कार्रवाई होगी।

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned