सेक्युलरिज्म के दलाल बीजेपी का डर दिखाकर लेते आ रहे वोट: ओवैसी

Kanpur, Uttar Pradesh, India
 सेक्युलरिज्म के दलाल बीजेपी का डर दिखाकर लेते आ रहे वोट: ओवैसी

बोले, समाजवादी पार्टी ने मुसलमानों को वोट हासिल कर उन्हें छला है।

कानपुर। आल इंडिया मजलिस-ए-इत्तेहादुल मुस्लिमीन के राष्ट्रीय अध्यक्ष असदउद्दीन ओवैसी देररात कानपुर की आर्यनगर स्थित जीआईसी मैदान पहुंचे। यहां पर उन्होंने सपा, कांग्रेस और भाजपा के खिलाफ  जुबानी हमला बोला। ओवैसी ने कहा, सेक्युलरिज्म के दलाल बीजेपी का डर दिखाकर मुसलमानों से सियासी फायदा हासिल करते हैं। बोले, समाजवादी पार्टी ने मुसलमानों को वोट हासिल कर उन्हें छला है। उनकी सरकार में सिर्फ  यादव बिरादरी के लोगों को फायदा हुआ है। सपा को चुनाव में 19 प्रतिशत मुसलमानों की याद आती है और चुनाव बाद नौ प्रतिशत यादवों की तरक्की होती है। वे आर्य नगर प्रत्याशी रबीउल्लाह मंसूरी के समर्थन में जनसभा को संबोधित कर रहे थे।

बेखौफ होकर हमें वोट दें 

ओवैसी ने कहा कि लोग बीजेपी का एजेंट और वोट कटवा कहते हैं। लोकसभा चुनाव में एआईएमआईएम चुनाव नहीं लड़ी तो बीजेपी कैसे जीती। सपा, बसपा और कांग्रेस पार्टी वोटरों ने भाजपा को वोट दिया। मुसलमानों को किसी से डर के नहीं बल्कि बेखौफ  होकर अपनी पार्टी को वोट देना चाहिए। ओवैसी ने कहा कि सेक्युलरिज्म के दलाल चुनाव के समय एक दाढ़ी टोपी वाले को अपने मंच पर माला पहनाकर बैठाते हैं और उससे अपील कराते हैं कि वह कहें कि मुसलमान उन्हें वोट दें वरना फिरकापरस्त ताकतें जीत जाएंगी। मुसलमान पिछले 65 सालों से यही करता आया है।


अकेला ओबैसी ही दो सौ सांसदों पर भारी 

ओवैसी ने कहा कि सेक्युलरिज्म के दलालों ने मुसलमानों के दादा को जनसंघ, पिता को बीजेपी और अब तुम लोगों को मोदी से डरा रहे हैं। 65 सालों से मुसलमान डरता आया और इन्हें वोट देता आया। अब मुसलमान उनकी पार्टी के प्रत्याशी को वोट नहीं देंगे बल्कि उनसे कहेंगे कि वह और उनके वोटर उनकी पार्टी के प्रत्याशी को अपना समर्थन दें। लोग कहते हैं कि आठ-नौ विधायक जीत गए तो क्या होगा। मैं कहता हूं कि संसद में अकेला बीजेपी के 200 सांसदों पर भारी पड़ता हूं। हमारे विधायक यूपी की विधानसभा में तूफान मचा देंगे।
 
टोपी लगाकर रोजा इफ्तार कराते हैं अखिलेश 

अखिलेश यादव मुसलमानों से झूठ बोलते हैं। आरक्षण समेत चुनाव में मुस्लिमों से किया कोई वादा पूरा नहीं किया है। सिर्फ  रमजान में टोपी लगाकर रोजा इफ्तार कराते हैं और खजूर भी 14-15 घंटे रोजे में भूखे मुसलमानों से खाते हैं। अखिलेश का काम बोलता है क्योंकि मुजफ्फरनगर दंगों में मुसलमानों की मौत हुई, रोजगार नहीं मिला और उन पर जुल्म हुए। ओवैसी ने कहा कि मुलायम सिंह यादव सीएम थे, लेकिन मस्जिद ढह गई।

 
मुरली मनोहर पर चल रहा है मुकदमा 

ओवैसी ने पीएम पर हमला बोलते हुए कहा कि वह कहते हैं सबका साथ सबका विकास, लेकिन उनकी करनी और कथनी में फर्क है। बोले, बाबरी मस्जिद कांड में कानपुर के सांसद मुरली मनोहर जोशी पर मुकदमा चल रहा है और मोदी उन्हें पद्म विभूषण देते हैं। हिंदुत्व का साथ और अपने साथियों का विकास उनका एजेंडा है। जब गुजरात दंगों के लिए मुख्यमंत्री रहे नरेंद्र मोदी जिम्मेदार हैं तो मुजफ्फरनगर दंगों के लिए अखिलेश यादव जिम्मेदार हैं। नोटबंदी के जो फायदे गिनाए गए, उसका उल्टा हो रहा है। जनता परेशान हुई, भागती हुई अर्थव्यवस्था रुक गई और पाकिस्तान का आतंकवाद भी नहीं रुका। हमारी फौज का मेजर शहीद हुआ है।

अखिलेश यादव ने नहीं आने दिया, पर अब आऊंगा

ओवैसी ने कहा कि सीएम अखिलेश यादव ने हमें कानपुर आने नहीं दिया, लेकिन हम भी हठी हैं और देखों आ गए। अब कानपुर आते ही रहेंगे और किसी में हिम्मत नहीं जो हमें रोक सके। सपा सरकार के तत्कालीन एडीएम सिटी ने लिखा कि मैं अनुमति नहीं दूंगा क्योंकि यहां सपा प्रत्याशी का वोट बैंक प्रभावित होगा। उससे वफादार अफसर अखिलेश को नहीं मिलेगा लेकिन याद रहे कि अखिलेश अपने बाप के नहीं हुए। उन्होंने लोगों से अपील की कि वह नारे न लगाएं क्योंकि 65-70 सालों से नारे ही लगाते आए हैं।

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned