PM मोदी के फैसले से घर में बच्चे भूखे मर रहे, बैंक में पुलिस डंडे बरसा रही है!

Lucknow, Uttar Pradesh, India
PM मोदी के फैसले से घर में बच्चे भूखे मर रहे, बैंक में पुलिस डंडे बरसा रही है!

पुलिसवाले लंबी-लंबी कतारों में लगे ग्राहकों से 100 और 200 रूपए लेकर बैंक कें अंदर एंट्री कराते हैं।

कानपुर. नोटंबदी के 22वें दिन लोग सुबह से बैंक के व एटीएम के बाहर खड़े होकर अपना पैसा निकालने के लिए कई-कई घंटे लाइन पर खड़े हो रहे हैं। बारी आने पर बैंकों में करेंसी खत्म हो जाती है और कर्मचारी ताला डालकर निकल जाते हैं। जब पब्लिक इसका विरोध करती है तो लाइन में लगे लोगों पर पुलिस डंडे बरसाती है। मंगलवार को बिना नेम प्लेट लगाए सिपाही ने फजलगंज स्थित भारतीय स्टेट बैंक की शाखा में पब्लिक पर डंडे बरसा दिए। हमले से एक बुजुर्ग घायल हो गए। बैंक के बाहर पुलिस की पिटाई से घायल रमेश ने बताया कि घर में पैसे न होने के चलते बच्चे भूखे मर रहे हैं, वहीं बैंक आने पर खाकीधारी लाठी से पीट रहे हैं।
 
सौ से दों सौ रूपए दें बिना लाइन बैंक कं अंदर जाएं
नाटबंदी के चलते जिला प्रशासन ने शहर के सभी बैंकों और एटीएम के बाहर पुलिस तैनात की हुई है। पुलिस का काम बैंक में आने वाले ग्राहकों को लाइन पर खड़ करवाना है। लेकिन यही अब खाकी की कमाई का जरिया बन गया है। पुलिसवाले लंबी-लंबी कतारों में लगे ग्राहकों से सौ और दो सौ रूपए लेकर बैंक कें अंदर प्रवेश कराती है। लोग भी पैसे देकर लाइन पर खड़े होने से बच जाते हैं। एसबीआई की फजलगंज शाखा के बाहर दोपहर करीब दो बजे रुपये निकालने और जमा करने के लिए लाइन में 100 लोग ही लगे थे, इनमें महिलाएं भी थीं। बैंक के अंदर पांच सिपाही तैनात थे। बैंक के मुख्य गेट पर तैनात बिना नेम प्लेट लगाए एक सिपाही अपनी पहचान वाले लोगों को अंदर करवा रहा था और बदले में उनसे पैसे ले रहा था।  इसका पब्लिक ने विरोध किया। इस दौरान सिपाही ने एक अन्य जानने वाले को बैंक के अंदर पहुंचाने की कोशिश की तो लाइन में लगे लोगों ने भी गेट धकियाना शुरू कर दिया। इससे अफरातफरी मच गई। लोगों के गेट धकियाने से गुस्साए सिपाही ने डंडे बरसाने शुरू कर दिए। इसकी चपेट में आए एक बुजुर्ग को कई डंडे लगे।

पंद्रह मिनट तक चलाते रहे लाठी
खाकीधारी बैंक के बाहर खड़े लोगों पर लाठी लेकर टूट पड़ा, जो मिला उस पर जमकर डंडे बरसाए। मामला बड़ता देख पुलिसवाला मौका पाकर निकल गया। पुलिस पी पिटाई से एक दर्जन लोग घायल हो गए। नाराज लोगों ने काफी देर तक हंगामा किया और मैनेजर से शिकायत की। लोगों का आक्रोश बढ़ने पर अन्य सिपाही भाग लिए। एसबीआई की फजलगंज शाखा के चीफ मैनेजर मोहित श्रीवास्तव ने कहा, बैंक परिसर में लोगों पर डंडे चलाना गलत है। वे थानाध्यक्ष से इसकी शिकायत करेंगे। पब्लिक वैसे भी परेशान है। ऐसे में उन्हें समझाने के लिए धैर्य से काम लेना चाहिए। पब्लिक को हैंडल करने के लिए डंडे का इस्तेमाल नहीं होना चाहिए। 

सीओ बोले- मेरी जानकारी में मामला नहीं 
खाकी की इस करतूत पर सीओ गोविन्द नगर से बात की गई तो उन्होंने ऐसी कोई घटना की जानकारी होने से साफ इंकार कर दिया। वहीं मामले पर बैंक के मैनेजर ने बताया कि किसी ग्राहक ने लिखित तौर पर शिकायत नहीं की। अगर शिकायत आती है तो मैं खुद उस पुलिकर्मी के खिलाफ थाने में तहरीर दूंगा। 

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned