1,075 दिन बाद इस टोटके वाली कुर्सी पर बैठेंगे PM मोदी, यूपी फतह का करेंगे अगाज!

Lucknow, Uttar Pradesh, India
1,075 दिन बाद इस टोटके वाली कुर्सी पर बैठेंगे PM मोदी, यूपी फतह का करेंगे अगाज!

बढ़ई ने कुर्सी को बनाकर भाजपा के नेताओं को देते हुए कहा था कि जो इस कुर्सी पर बैठेगा वह ही देश का अगला PM बनेगा।

कानपुर. खेल हो या राजनीति इन सब पर कुंडली और टोटके समेत सारे दांव आजमाए जाते हैं। इसी कड़ी में भाजपा ने आगामी विधानसभा चुनाव फतह करने के लिए नवीन मार्केट में रखी खास कुर्सी की रेपयरिंग शुरु करा दी है। बुधवार को कुर्सी को पहले कमरे से बाहर लाया गया, फिर गंगा जल छिड़कर उसे शुद्व किया गया। इसके बाद भाजपाईयों इस कुर्सी को दूसरे कमरे में शिफ्ट कर दिया। 1 से 18 दिसबंर तक कुर्सी की पूजा की जाएगी और कानपुर रैली में भाग लेने आ रहे 1,075 दिन बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के मंच पर रखी जाएगी। इसी कुर्सी पर बैठकर पीएम भाजपाईयों से एक-एक कर मिलेंगे। आइये आपको बताते हैं कि आखिर क्यों है भाजपा के लिए यह कुर्सी खास...

लोकसभा चुनाव 2014 से पहले भाजपा के पीएम कैंडीडेट नरेंद्र मोदी चुनावी रैली कर रहे थे। नरेंद्र मोदी की एक चुनावी रैली कानपुर में 19 अक्टूबर 2013 को थी। स्थानीय भाजपा नेता ने अपने पीएम कैंडीडेट के लिए एक खास बढ़ई से कुर्सी बनवाई थी। बढ़ई ने इस कुर्सी को बनाकर भाजपा के नेताओं को देते हुए कहा था कि जो व्यक्ति इस कुर्सी पर बैठेगा वह ही देश का अगला वजीर बनेगा। लोकसभा चुनाव जीतने के बाद भाजपा की सरकार बनी तो नेताओं ने बढ़ई की बात पर विश्वास करते हुए कुर्सी को सहेज कर रखवा दिया। कानपुर की विजय शंखनाद रैली में जिस कुर्सी पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी बैठे थे, उसे सौभाग्यशाली मानते हुए 18 दिसंबर को प्रस्तावित सभा में मंच पर एक बार फिर पीएम मोदी के लिए रखने जा रहे हैं।

pm modi chair

रैली के दौरान पीएम इसी कुर्सी पर बैठे थे
लोकसभा चुनाव से ठीक पहले 19 अक्टूबर 2013 को कानपुर में भाजपा की विजय शंखनाद रैली हुई थी। तब जिस कुर्सी पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी बैठे थे, उसे पार्टी कार्यकर्ताओं ने अलग रख दिया। फिर जैसे ही केंद्र में भाजपा की सरकार बनी तो उसे भाजपाई सौभाग्यशाली कुर्सी मानने लगे। नवीन मार्केट स्थित पार्टी कार्यालय में शीशे के जार में कुर्सी को सहेजकर रख लिया गया। अब 18 दिसंबर को प्रधानमंत्री कानपुर में सभा करने आ रहे हैं। लिहाजा, बुधवार को उत्तर जिलाध्यक्ष सुरेंद्र मैथानी व अन्य कार्यकर्ताओं ने वह कुर्सी जार से निकाली और उसकी साफ-सफाई की। जिलाध्यक्ष का कहना है कि इस बार भी प्रधानमंत्री मोदी को इसी कुर्सी पर बिठाया जाएगा। हमें भरोसा है कि भजपा को लोकसभा की तरह विधानसभा चुनाव में भी शानदार जीत हासिल होगी।

बढ़ई ने कहा कुर्सी सत्ता की कड़ी
नवीन मार्केट भाजपा कार्यालय में शीशे के बीच रखी कुर्सी को बनाने वाले बढ़ई राजू ने बताया कि अकूबर 2013 में भाजपा जिलाध्यक्ष ने पीएम कैंडीडेट के बैठने के लिए कुर्सी का आर्डर दिया था। एक हफ्ते में मैं और मेरी बेटी ने मिलकर कुर्सी तैयार की थी। भाजपा जिलाध्यक्ष ने कुर्सी की लागत और मेहनत का पैसा देना चाहा तो मैने लेने से इंकार कर दिया। मैंने उनसे कहा था कि नरेंद्र मोदी इस कुर्सी पर अगर बैठेंगे तो भारत के वजीर बनेंगे। चुनाव जीतने के बाद मुझे भाजपा की तरफ से मेहनताना दिया गया, लेकिन मैने पैसा वापस कर दिया।

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned