इस जिले के गरीबों को ठंड से बचाने के लिये शासन ने किये ये उपाय

Ruchi Sharma

Publish: Dec, 01 2016 02:58:00 (IST)

Kanpur, Uttar Pradesh, India
इस जिले के गरीबों को ठंड से बचाने के लिये शासन ने किये ये उपाय

भारत जैसे देश में सर्दी, गर्मी और बरसात तीनों मौसम करवट लेते है

कानपुर देहात. भारत जैसे देश में सर्दी, गर्मी और बरसात तीनों मौसम करवट लेते है। जिसमें बरसात व गर्मी तो सभी को कहीं न कहीं राहत देती है लेकिन ठंड का मौसम सड़कों, झोपडियों व फूस के बंगलों में रहने वाले गरीबों के लिये काल बन जाता है। जिसमें तमाम गरीबों की ठंड लगने से जान ही चली जाती है। इसलिये इस बार सर्दी शुरू होते ही गरीबों को ठंड से बचाने के लिये प्रशासनिक कवायद शुरू हो गयी है। शासन से इस बार जिले के गरीबों के सर्दी से बचाने के लिये 33 लाख रुपये की धनराशि मंजूर की है। इसमें 30 लाख रुपये से कम्बल व तीन लाख रुपये से अलाव के लिये लकड़ी खरीदी जाएगी। जिससे गरीबों को राहत पहुंचाई जा सके।

33 लाख रुपये से होगा कल्याण

शासन के सचिव एवं राहत आयुक्त ने सर्दी से होने वाली समस्या को रोकने के लिये निर्बल व आश्रयहीन लोगों को ठंड से बचाने के लिये अभी से तैयारियां करने के निर्देश दिये है। इस क्रम में एक दिसम्बर तक जिले के असहाय, निराश्रित व कमजोर वर्ग के बुजुर्गों को चिन्हित करने तथा 10 दिसम्बर तक कम्बलों की खरीद करने का निर्देश दिया है। जिलाधिकारी को भेजे निर्देश में सर्दी राहत एवं बचाव के लिये जिले को 33 लाख रुपये की धनराशि स्वीकृत किये जाने की जानकारी दी है।

तहसील प्रशासन को इस मापतौल से करनी होगी खरीद

राहत आयुक्त ने जिलाधिकारी को भेजे निर्देश में बताया कि 33 लाख की धनराशि में 30 लाख रुपये से कम्बलों की खरीद व 3 लाख रुपये से अलाव की लकड़ी खरीदने के निर्देश दिये है। इस बार भी शासन ने कम्बल उपलब्ध कराने की जगह खरीददारी स्थानीय स्तर पर कराने का निर्देश दिया है। इसके लिये शासन ने कम्बल की लम्बाई 235 सेमी एवं चौड़ाई 140 सेमी तथा वजन 2 किलो 200 ग्राम का मानक निर्धारित किया है।

एडीएम वित्त एवं राजस्व अमरपाल सिंह ने बताया कि सभी उपजिलाधिकारी व तहसीलदारों को एक सप्ताह के अंदर गरीबों व अलाव स्थलों को चिन्हित कराने के निर्देश दिये गये है। कम्बलों की आपूर्ति के लिये टेंडर प्रक्रिया शुरू की गयी है। 10 दिसम्बर तक जिले में कम्बलों की आपूर्ति शुरू कराने का प्रयास किया जा रहा है। इसके बाद गरीबों को कम्बल वितरण का काम शुरू कराया जाएगा।

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned