तुलसीदास के जिले को मिली पहली महिला विधायक, चली साइकिल

Kasganj, Uttar Pradesh, India
तुलसीदास के जिले को मिली पहली महिला विधायक, चली साइकिल

पटियाली में नजीवा खान ने रचा इतिहास , 25 हजार से अधिक मतों से दी बसपा को मात 

कासगंज। रामचरितमानस के रचयिता संत तुलसीदास के जिले में तीन विधान सभा सीटें हैं लेकिन कभी किसी महिला प्रत्याशी को विधान सभा जीत कर जाने का अवसर नहीं मिला। वर्ष 2012 के विधान सभा चुनाव में सपा प्रत्याशी नजीवा खान जीनत को यह अवसर मिला। उन्होंने जिले के राजनीतिक इतिहास में नया कीर्तमान स्थापित  किया। लगभग 25 हजार से अधिक मतों से उन्होंने बसपा के सूरज सिंह शाक्या को मात दी। पटियाली विधान सभा सीट पर कभी किसी महिला को दूसरा स्थान भी नहीं मिला था।

आंकड़े जो बोलते है 
कासगंज 2008 में जिले के रूप में अस्तित्व में आया। जिसकी आबादी 14,36 719 है। जिसमें पुरुष  764165 और महिलाएं 672554 है। 

कुल मतदाता 
25,9766
महिला 
115000
पुरुष
144766

पटियाली सीट का राजनीतिक सफर 
इस सीट से पांच बार कांग्रेस ने विजय का पताका फहाराया। दो दो बार बसपा और सपा ने जीत हासिल की। वहीं तीन बार भाजपा और एक एक बार जेएनपी व बीकेडी के प्रत्याशियों को विधान सभा पहुंचने का अवसर मिला। 

वर्ष 2012 की स्थिति
सपा की नवजीवा खान जीनत को 35 प्रतिशत और 62,493 मत मिले।
बसपा के सूरज सिंह शाक्या को 19 प्रतिशत और  34,718 मत मिले।
लोकदल के श्याम सुंदर गुप्ता को 15 प्रतिशत और 28, 181 मत मिले।
बाकि अन्य 12 प्रत्याशियों को 28 प्रतिशत और 50,933 मत मिले।  

वर्ष 1969 से 2012 तक के विजेता 
1969 तिर्मल सिंह-बीकेडी 
1974 मलिक मोहम्मद जमीर-कांग्रेस 
1977 जसवीर सिंह -जेएनपी 
1980  मलिक मोहम्मद जमीर-कांग्रेस 
1982  आरसिंह-कांग्रेस 
1985   राजेन्द्र सिंह-कांग्रेस 
1989   देवेन्द्र सिंह-कांग्रेस 
1991    राजेन्द्र सिंह-भाजपा 
1993   सज्जन पाल सिंह-भाजपा 
1996    कुवंर देवेन्द्र सिंह-सपा 
2000    सज्जन पाल सिंह-भाजपा 
2002    राजेन्द्र सिंह चैहान-बसपा 
2007    अजय यादव-बसपा 
2012   नजीवा खान जीनत-सपा 




Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned