बच्चों के पिगी बैंक ने उगले सिक्के, नहीं हो रहे जमा

Katni, Madhya Pradesh, India
बच्चों के पिगी बैंक ने उगले सिक्के, नहीं हो रहे जमा

नोटबंदी ने बढ़ाई लोगों की मुसीबत, 10 के सिक्के बने समस्या का सबब

कटनी। कालेधन पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की सर्जिकल स्ट्राइक का आम और खास के बाद अब बच्चों की गुल्लक पर भी पड़ रहा है। घर के मुखिया का मुरझाये चेहरों पर खुशी देखने के लिए नौनिहालों ने अपनी बैंक गुल्लक का सदुपयोग करना चाहा। गुल्लक से दस से सौ, पांच सौ और हजार की नोटों के साथ ही बड़ी संख्या में दस के सिक्के भी निकले।

 नकली सिक्कों की अफवाह 
रोजमर्रा के कामों के लिए इन सिक्कों को लेकर बच्चे या बड़े बाजार, दुकानों में पहुंच रहे है तो उन्हें नकली सिक्कों की अफवाह के चलते वापस लौटा दिया जा रहा है,  कहा जा रहा है कि ये सिक्के अब नहीं चलते। बैंक में जमा करिए तभी चलेंगे। अब जब लोग पांच सौ और हजार रुपए के सिक्के लेकर बैंकों के बाहर लाइन लगा रहे हैं तो ऐसे वक्त में भी दस के सिक्के भी साथ नहीं दे रहे हैं। 

बैंकों ने मना कर दिया
बैंकों में लगातार बढ़ी सिक्कों की संख्या के बाद कई बैंकों ने इन्हें लेने से भी मना कर दिया है। रोशनगर निवासी गुप्तेश्वर साहू ने बताया कि बच्चों की गुल्लक से निकले 5000 रुपए के सिक्के जब वे बैंक में जमा कराने पहुंचे तो उन्हें ये सिक्के जमा करने से मना कर दिया साथ ही बाद में आने की सलाह दे दी गई।  इसी तरह मंगलवार को हरिओम ट्रेडर्स का कर्मचारी अशीष जायसवाल 5200 रुपए के 10 के सिक्के लेकर जमा करने पहुंचा तो उसे जमा करने से मना कर दिया। बताया जा रहा है कि बैंकों में बढ़ी भीड़ और लोगों की संख्या के चलते दस के सिक्कों की झंझट से बचने बैंक कर्मचारी यह पैंतरा आजमा रहे हैं।

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned