बिना अग्निशामक दौड़ रहे गैस सिलेंडर डिलेवरी वाहन

narendra shrivastava

Publish: Apr, 21 2017 11:34:00 (IST)

Katni, Madhya Pradesh, India
बिना अग्निशामक दौड़ रहे गैस सिलेंडर डिलेवरी वाहन

सुरक्षा नियमों की अनदेखी, हो सकता है गंभीर हादसा, धूप में करते हैं सिलेंडर का वितरण


कटनी. पेट्रोलियम कंपनी के नियमों के मुताबिक गैस डिलेवरी में लगे वाहनों में सुरक्षा इंतजामों को मद्देनजर अग्निशमक यंत्र लगाना अनिवार्य है, लेकिन जिले में होम डिलेवरी वाहनों के रूप में चल रहे गैस एजेंसियों के वाहनों में नियमों का पालन नहीं किया जा रहा है। इतना ही नहीं सिलेंडर की डिलेवरी के समय एजेंसी का वाहन धूप में खड़े होकर वितरण किया जाता है।

जानकारी के मुताबिक खाद्य विभाग के अधिकारी एजेंसी पर समय-समय पर निरीक्षण करते हैं फिर भी नियमों के पालन करने के निर्देश एजेंसी संचालक को नहीं देते हैं। जानकारी के मुताबिक गैस सिलेंडर की डिलेवरी ग्राहकों को करने के दौरान वाहन धूप में खड़ा रहता है जबकि नियमों के अनुसार सिलेंडर डिलेवरी वाहन को छांव में खड़ा करके ही वितरण करना चाहिए। सर्दी के इन दिनों में तो ठीक है लेकिन गर्मी के दिनों में भी अक्सर इस नियम का पालन होता नहीं दिखता। ऐसे में किसी भी दिन बड़ा हादसा होने से इंकार नहीं किया जा सकता है। उल्लेखनीय है कि पेट्रोलियम कंपनियों ने गैस सिलेंडरों की डिलेवरी में सुरक्षा व्यवस्था को लेकर नियम बनाए हैं, जिसके अनुसार डिलेवरी वाहन में 2 से 5 केजी तक के अग्निशमन यंत्र लगे होना चाहिए जिससे दुर्घटना की स्थिति में बचाव हो सके।

ये हैं निर्देश
- रसोई गैस की आपूर्ति तुरंत होना चाहिए। 
- रसोई गैस सिलेंडर के वितरण के दौरान वाहन को तेज धूप में न खड़ा किया जाए।
- गैस सिलेंडर के वितरण के दौरान आसपास आग जलने पर भी ध्यान देना चाहिए।
- सिलेंडर में लीकेज की जांच कर ही उसे उपभोक्ता को दिया जाए। 

इनका कहना
गैस एजेंसियां को पेट्रोलियम कंपनी के नियमों का पालन करना अनिवार्य है। इस कार्य में लापरवाही की जा रही है तो निरीक्षण किया जाएगा। हालाकि अबतक कोई हादसा सामने नहीं आया है, फिर भी सुरक्षा की दृष्टि से निर्देश दिए जाएंगे।
वीवीएस सेंगर,  जिला आपूर्ति अधिकारी  

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned