विधायक के साथ नेतागीरी चमकाने गए पति को कलेक्टर ने बाहर निकाला

Rajiv Jain

Publish: Feb, 17 2017 04:00:00 (IST)

Khandwa, Madhya Pradesh, India
विधायक के साथ नेतागीरी चमकाने गए पति को कलेक्टर ने बाहर निकाला

किसानों के पानी की समस्या के मुद्दे पर अपनी विधायक पत्नी के साथ नेतागीरी करने गए पंधाना विधायक के पति नवल सिंह की नेतागीरी कलेक्टर के सामने धरी रह गई। कलेक्टर ने उन्हें चुप करते हुए कार्यालय से बाहर निकाल दिया।

खंडवा. किसानों के पानी की समस्या के मुद्दे पर अपनी विधायक पत्नी के साथ नेतागीरी करने गए पंधाना विधायक के पति नवल सिंह की नेतागीरी कलेक्टर के सामने धरी रह गई। कलेक्टर ने उन्हें चुप करते हुए कार्यालय से बाहर निकाल दिया।
पंधाना विधायक योगिता बोरकर और जिला पंचायत अध्यक्ष हसीना बाई किसानों के मुद्दे पर कलेक्टर स्वाति मीणा से बात करने उनके कार्यालय आए। उनके पीछे-पीछे योगिता बोरकर के पति नवल सिंह भी वहां आ गए और नेतागीरी करने लगे। उनका अनावश्यक हस्तक्षेप देखकर कलेक्टर ने पहले उन्हें टोका। हस्तक्षेप जारी रहने पर कलेक्टर ने उन्हें कार्यालय से बाहर जाने को कह दिया। इस पर नवल सिंह बाहर निकलकर आ गए।



नवल सिंह ने बाहर आकर भाजपा नेताओं को फोन लगाया और कलेक्टर की शिकायत की। करीब पांच मिनट बाद ही विधायक योगिता बोरकर भी बाहर आ गईं। उनका गुस्सा शांत करने के लिए भाजपा जिलाध्यक्ष कलेक्टोरेट पहुंचे और नवल सिंह को अपने कार्यालय लेकर आए। इस दौरान करीब एक घंटे तक कलेक्टोरेट में सुगबुगाहट चलती रही।


इसलिए गई थीं विधायक
हर साल किसान अपने लिए दो बार का पानी रिजर्व कराते थे, लेकिन जब भी खंडवा शहर में नगर निगम के कहने पर सुक्ता से पेयजल सप्लाई के लिए पानी छूटता था, उन किसानों को भी अपने आप पानी मिल जाता था। इस बार निगम ने पानी आरक्षित कराया, लेकिन अभी नर्मदा जल की सप्लाई के चलते पानी छोडऩे की नौबत नहीं आई। इसलिए किसान परेशान हो रहे हैं। जल उपयोगिता समिति की बैठक के दौरान ही किसानों के लिए पानी छोडऩे का हिसाब हो जाता तो वे परेशान नहीं होते लेकिन किसी जनप्रतिनिधि ने बैठक में यह बात नहीं कही, जिससे बोरगांव बुजुर्ग सहित करीब 12 गांवों के सैकड़ों किसान परेशान हैं। 


कलेक्टर ने हमें बाहर निकाला
क्षेत्र के 12 गांवों के किसान परेशान हैं, इसके लिए ही हम लोग किसानों के साथ पानी मांगने के लिए कलेक्टर के पास गए थे। कलेक्टर ने पानी देने से मना कर दिया और बाहर जाने के लिए कह दिया इस पर हम सभी लोग बाहर आ गए।
योगिता बोरकर, विधायक पंधाना

विधायक को कुछ नहीं कहा
दो बार पानी भी दिया जा चुका है। आगे के लिए जल संसाधन विभाग को पानी की स्थिति को देखते उचित कदम उठाने को कहा गया है। विधायक को मैंने कुछ नहीं कहा। 
स्वाति मीणा, कलेक्टर 


Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned