अब किसान नहीं काटेगा  बैंक के चक्कर, उपज का आरटीजीएस से होगा भुगतान

Vipin Awasthi

Publish: Apr, 21 2017 12:03:00 (IST)

khandwa
अब किसान नहीं काटेगा  बैंक के चक्कर, उपज का आरटीजीएस से होगा भुगतान

मंडी प्रशासन, अध्यक्ष, बैंक अधिकारी व व्यापारियों की बैठक मंडी के सभागार में आयोजित हुई। इसमें फैसला लिया कि अब किसानों को आरटीजीएस के माध्यम से भुगतान होगा, लेकिन किसानों को पासबुक लाना जरूरी है...

खंडवा. अब किसानों को कृषि उपज मंडी में उपज बेचने पर भुगतान आरटीजीएस (रियल टाइन ग्रॉस सेटलमेंट) से होगा। इसके लिए किसानों को मंडी आते समय अपने साथ पासबुक लाना होगी, ताकि परेशानी न हो। आरटीजीएस रुपए भुगतान करने की सबसे तेज तरीका है। हालांकि यह सुविधा सभी बैंकों में नहीं होती है। गुरुवार को कृषि उपज मंडी में हुई मंडी प्रशासन की बैठक में यह निर्णय लिया गया है।

बता दें कि किसानों को अब तक चेक व नगद भुगतान किया जाता था। इसमें कई गड़बडिय़ां सामने आ रही थीं। इसके अलावा किसानों को चेक मिलने के बाद बैंक में भी 15 से 20 दिन तक चक्कर लगवाए जाते थे। इस स्थिति को देखते हुए मंडी सचिव व अध्यक्ष ने शहर के बैंक मैनेजर्स और व्यापारियों के साथ बैठक आयोजित की।
यह भी पढ़ें - हर साल बैंक काट रही प्रीमियम, अब अधिकारी कह रहे नहीं आया आपका बीमा
चार दिन में हो जाएगा
मंडी सचिव केडी अग्निहोत्री ने बताया कि अब तक चेक से 70 फीसदी किसानों को भुगतान किया जा रहा था। इसमें कई व्यापारी के खातों में समय पर रुपए नहीं आते थे। किसान बार-बार बैंक के चक्कर लगाते रहता था। अब ऐसी समस्या नहीं आएगी। सोमवार से इस नियम को पूरी तरह लागू कर दिया जाएगा।
यह भी पढ़ें - ऊर्जा मंत्री ने वादा तोड़ा, बोलकर गए थे हर तीन महीने में आएंगे,10 महीने बाद आए
 Mandi merchant will pay for RTGS
पासबुक लाना जरूरी

किसानों को बैंक की पासबुक लाना जरूरी है। इसके अलावा किसान अनुबंध पत्रक कटवाते समय सही नाम बताएं। नाम गड़बड़ होने से आरटीजीएस से भुगतान करने में परेशानी होगी।
आनंद मोहे, अध्यक्ष, कृषि उपज मंडी, खंडवा
यह भी पढ़ें - हमनाम होने का फायदा उठाकर किसानों से की लोन में लाखों की धोखाधड़ी

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned