500 किमी गांव-गांव तलाशकर ढूंढी अपनी भैंस 'चंदा', अब पुलिस बनी विलेन

Rajiv Jain

Publish: Feb, 17 2017 04:16:00 (IST)

Khandwa, Madhya Pradesh, India
500 किमी गांव-गांव तलाशकर ढूंढी अपनी भैंस 'चंदा', अब पुलिस बनी विलेन

उत्तर प्रदेश के सपा नेता आजम खान की भैंसें चोरी होने और उन्हें ढूंढने के लिए जहां पूरा पुलिस अमला लगा दिया गया था, वहीं खंडवा के एक किसान ने अपनी भैंस 'चंदा' के गुम होने पर अकेले ही 500 किमी से अधिक गांव-गांव और जंगल की खाक छानकर ढूंढ निकाला। 

खंडवा. उत्तर प्रदेश के सपा नेता आजम खान की भैंसें चोरी होने और उन्हें ढूंढने के लिए जहां पूरा पुलिस अमला लगा दिया गया था, वहीं खंडवा के एक किसान ने अपनी भैंस 'चंदा' के गुम होने पर अकेले ही 500 किमी से अधिक गांव-गांव और जंगल की खाक छानकर ढूंढ निकाला। लेकिन जब चंदा मिली तो अब पुलिस उसे कोर्ट से सुपुर्दगी करने की बात कह रही है। इधर, मालिक मुकेश गुर्जर सहित पूरा परिवार अपने चंदा के घर लौटने के इंतजार में गम में डूबा है। वहीं पाड़ा भी चारा नहीं खा रहा है। मालिक ने गुरुवार को एसपी कार्यालय पहुंचकर भैंस दिलवाने की मांग की। 12 अक्टूबर 2016 को नर्मदानगर थाना क्षेत्र के ग्राम केलवा बुजुर्ग निवासी मुकेश गुर्जर की भैंस खेत में पाड़ा के साथ चरने गई थी। इस दौरान सुबह करीब 8 बजे अचानक गायब हो गई। मुकेश ने नर्मदानगर थाने में चंदा की गुमशुदगी दर्ज कराई गई। 
 
 इसके साथ ही गांव-गांव और जंगल-जंगल चंदा की तलाश में 500 किमी की खाक छान ली। वह महीनों तक रोज सुबह-शाम अपनी भैंस का तलाशता रहा। इस दौरान मुकेश सनावद में लगने वाले पशु बाजार में 12 दिसंबर 2016 को पहुंचा। यहां उसे चंदा नजर आई। पास पहुंचा तो मुकेश को देख चंदा भी रमाने लगी और अपने मालिक को देख उसकी आंख से आंसू निकल आए। उसने तत्काल पशुओं की खरीदी-बिक्री कर रहे गोपीचंद चौहान निवासी बोराणी से कहा यह भैंस मेरी है। गोपी ने कहा मैंने 17 हजार रुपए में खरीदी है।


buffalo chand of khandwa

चंदा।


थानों के बीच अटकी चंदा की सुपुर्दगी, इधर पाड़ा ने चारा-पानी छोड़ा
एसपी कार्यालय पहुंचे मुकेश ने बताया भैंस सनावद बाजार में मिली थी। यहां मूंदी थाना क्षेत्र के गोपीचंद उसे देने के लिए तैयार हो गया था। उसके घर वाहन लेकर चंदा को लेने पहुंचा। तभी नर्मदानगर थाने से फोन आया और भैंस वापस गोपीचंद को देने की बात कहने लगे। पुलिस ने कहा कि चंदा को गोपीचंद के पास से जब्त कर कोर्ट में सुपुर्द किया जाएगा। इसके बाद ही मिल पाएगी। मुकेश ने आरोप लगाया कि पुलिस गोपीचंद से मिली है। उन्होंने मेरी चंदा को बेच दिया होगा। जानकारी देने के बाद भी पुलिस ने अब तक न तो गोपीचंद को नहीं पकड़ा और न ही भैंस को कब्जे में लिया है। अपनी मां को नहीं पाकर पाड़ा ने चारा-पीना छोड़ दिया है।



Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned