शिवरात्रि पर दूध, चावल, साबूदाना, मिठाई से पूजन पर मिलेगा मनचाहा फल

Khandwa, Madhya Pradesh, India
शिवरात्रि पर दूध, चावल, साबूदाना, मिठाई से पूजन पर मिलेगा मनचाहा फल

मध्यप्रदेश के जिला खंडवा ज्योतिषाचार्य अंकित मार्र्कंडेय ने बताया कि इस बार महाशिवरात्री विशेष संयोग में आई है, इस दिन भगवान शिव की पूजा बताए गए नियमों और राशि के अनुसार करने से शिव का आशीर्वाद प्राप्त होगा और सभी मनोकामनाएं पूरी होंगीं..




खंडवा. महा शिवरात्रि इस बार 24 फरवरी को मनाई जाएगी। इस दिन रात्रि में सर्वार्थ सिद्धी योग होने के कारण श्रद्धालु रात्रि जागरण करेंगे। वहीं शुक्रवार को यह पर्व होने की दशा में दूध, चावल, साबूदाना, मिठाई एवं शकर के साथ शिवजी का पूजन करना विशेष महत्वपूर्ण के साथ विशेष फलदायी रहेगा।

 यह भी पढ़ें- करिश्मा:- ओंकारेश्वर में नर्मदा की खतरनाक भंवर से निकलते थे चंद्रमा, सांप व ब्रम्हांण की आकृति वाले शिवलिंग...जाने क्या है राज



ज्योतिषाचार्य अंकित मार्केंडेय के मुताबिक महाशिव रात्रि की पूजा हर बार एक दिन पहले से शुरू हो जाती है। लेकिन इस बार यह पूजा शिवरात्रि के दिन 24 फ रवरी को होगी। क्योंकि इस दिन रात्रि के चारों पहर में भगवान शिव की पूजा का शुभ फ लदायी होगी। प्रथम प्रहर सूर्यास्त के बाद शाम 6.30 बजे, द्वितीय प्रहर रात्रि 9.41 बजे, तृतीय प्रहर रात्रि 12.15 बजे तथा चतुर्थ प्रहर सुबह चार बजे से सूर्योदय तक रहेगा। 24 फ रवरी को निशीथ कालरात्रि 12.14 बजे से 1 बजकर 4 मिनिट तक शुभ रहेगी।

 यह भी पढ़ें- एक चौंकाने वाला सच .. ओंकारेश्वर में दूसरा शिवलिंग पूजते हैं हम.. असल ज्योर्तिलिंग है कोई और
जानने के लिए पढ़े पत्रिका की यह एक्सक्लूसिव रिपोर्ट



दो दिन होगा शिव पूजन
कुछ पंडित महाशिव रात्रि का पूजन 25 फ रवरी को बता रहे हैं। क्योंकि 24 फ रवरी को त्रयोदशी तिथि रात्रि 9.38 मिनिट तक रहेगी। इसके बाद चतुर्दशी तिथि लगेगी। लेकिन इस रात्रि को निशीथ काल का समय आएगा, वहीं 25 फ रवरी शनिवार को चतुर्दशी तिथि रात्रि 9.20 बजे तक रहेगी। यानी इस दिन निशीथ काल नहीं आएगा। इस कारण शिवरात्रि का पूजन 24 की रात्रि से 25 फ रवरी तक जारी रहेगी।

 यह भी पढ़ें- अनोखी सुनवाई: वृद्धा को देख जज का पसीजा दिल, कोर्ट से बाहर सीढिय़ों पर
Shivaratri 2017
शिव को किस राशि के कौन से जातक क्या चढ़ाए
- मेष: धतूरा, बड़ा बेर एवं गाजर का उपयोग करें।
- वृषभ: सफेद चावल, साबूदाना, शकरकंद, सफेद फू ल, खीर।
- मिथुन: धतूरा, बेलपत्र।
- कर्क: खीर, सफेद आक के पत्ते व पुष्प।
- सिंह: बेर, संतरा, धतूरा।
- कन्या: धतूर के पत्ते, बेलपत्र, सफेद आक के फू ल।
- तुला: सफेद चावल, साबूदाना, खीर, दूध।
- वृश्चिक: धतूरा, बेर, सिंघाड़ा।
- धनु: दूध, सफेद आक के फू ल।
- मकर: गंगाजल, मिट्ी का इत्र व बेलफ ल।
- कुंभ: धतूरे का फ ल व पत्ते, बेलपत्र।
- मीन: मोसंबी, केला, बेर।

 यह भी पढ़ें- ये हैं ओंकारेश्वर में आरती का रहस्य, लाइव वीडियो भी देखें

Shivaratri 2017
शिव को प्रसन्न करने ऐसे करें पूजा
शिव पुराण में उल्लेख है कि भगवान भोलेनाथ रुद्राभिषेक का पाठ करने से अत्यंत प्रसन्न होते हैं। इसके अलावा शिव पंचाक्षर स्त्रोत, रुद्राष्टक का पाठ भी शिवजी को बेहद प्रिय है। बेलपत्र, बेल फ ल, धतूरा, श्वेतार के फू ल, पंच मेवा व दूध अर्पित कर शिवजी की पूजा से मनुष्य की मनोकामना अवश्य पूरी होती है।

 यह भी पढ़ें- अंगारकी चतुर्थी व्रत से दूर होंगे विघ्न, घर आएंगी रिद्धि-सिद्धि, जाने कैंसे करें पूजन

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned