जीती नदी का पुल बना तालाब, हादसे का इंतजार

asif siddiqui

Publish: Jul, 17 2017 01:33:00 (IST)

Khargone, Madhya Pradesh, India
जीती नदी का पुल बना तालाब, हादसे का इंतजार

यहां शनिवार शाम को हुई तेज बारिश के कारण जीती नदी का पुल पानी की निकासी नहीं होने से तालाब में तब्दील हो गया। जब-जब भी बारिश होती है, पुल पर पानी जमा हो जाता है। वर्तमान में पुल पर बड़े-बड़े गड्ढे हो गए हैं। पुल की सतह से सरिए बाहर निकल आए हैं, जो किसी बड़ी दुर्घटना का कारण बन सकते हैं।

नांद्रा (खरगोन). पुल पर बारिश के पानी की निकासी के लिए रखे गए पाइप में भी मिट्टी व कीचड़ जमा हो गया है। वर्षाकाल में हमेशा यही हालात पुल पर निर्मित होते हैं। पुल की इस स्थिति से जिम्मेदारों को कई बार अवगत कराया, लेकिन ध्यान नहीं दिया जा रहा है। बड़वाह-धामनोद राजमार्ग होने से पुल पर यातायात का काफी दबाव रहता है। एक तरफ  पुल पर पानी व कीचड़ जमा होने पर चारपहिया वाहनों से लोगों के ऊपर कीचड़ व गंदा पानी उड़ रहा है, वहीं दूसरी ओर बाइकर्स गड्ढे से बचने के चक्कर में विपरीत दिशा में घुस जाते हैं। इस कारण लोगों में विवाद भी हो रहे हैं। इसी मार्ग पर सरकारी स्कूलें, सहकारी बैंक, राशन दुकान भी है। मार्ग से बच्चों व आम लोगों का दिनभर आना-जाना लगा रहता है। इसी मार्ग से जिले के आला अधिकारी व जनप्रतिनिधि भी गुजरते हैं। लेकिन इस ओर किसी का ध्यान नहीं जाता। ग्रामीण टीकम पटेल, अजय कटारिया, जगदीश नेताजी, अशोक पहलवान, लोकेंद्र कटारिया ने समस्या के त्वरित निराकरण की मांग की है। उल्लेखनीय है कि पुल का निर्माण सेतू निगम द्वारा करवाया गया था। निर्माण के समय से इसकी गुणवत्ता को लेकर ग्रामीणों ने संदेह व्यक्त किया था, लेकिन जिम्मेदारों ने इस ओर कोई ध्यान नहीं दिया।

मुझे मामले की जानकारी नहीं थी। आपसे से पता चली है। जल्द ही पुल की सफाई कराकर गड्ढों को भरा जाएगा।
आशीष पटेल, एजीएम एमपीआरडीसी

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned