15 साल साथ रहने के बाद बोला, 'संबंध तो हजारों से बनता है, क्या सभी से शादी कर लें'

Shribabu Gupta

Publish: May, 19 2017 08:35:00 (IST)

Kishanganj, Bihar, India
15 साल साथ रहने के बाद बोला, 'संबंध तो हजारों से बनता है, क्या सभी से शादी कर लें'

इश्क की हद तक प्यार करने के बाद एक युवती को एक ऐंसा जवाब सुनने को मिलेगा यह उसने भी नहीं सोचा था...

पटना। इश्क की हद तक प्यार करने के बाद एक युवती को एक ऐंसा जवाब सुनने को मिलेगा यह उसने भी नहीं सोचा था। शास्त्रीनगर निवासी शैलेश कुमार और आरती देवी (परिवर्तित नाम) के बीच 15 वर्षों तक लिव इन रिलेशन चला।

इसके बाद शिकायत पर इसी रिश्ते का जिक्र करते हुए जब महिला हेल्पाइन ने सवाल किया, तो शैलेश ने रिलेशन को ही नकार दिया. उसने कहा कि संबंध तो हजारों महिलाओं के साथ बनाते हैं, तो क्या सभी से शादी करते चलें. शैलेश कुमार के इस जवाब से महिला हेल्पलाइन के होश उड़ गये।

उन्होंने कहा कि यदि तुम अपनी गलती स्वीकार नहीं करते हो और महिला से संबंध की बात नहीं मानते हो, तो तुम्हारे मामले में एफआइआर दर्ज कर दी जायेगी. इस पर शैलैश कुमार और उनकी बहन व अन्य परिजन महिला हेल्पलाइन की काउंसेलिंग अधूरी ही छोड़  कर चले गये. इसके बाद महिला हेल्पलाइन की ओर से इस मामले में एफआइआर करायी गयी है।

साथ ही मामले में एसएसपी से मिल कर कार्रवाई करने की तैयारी की जा रही है. महिला हेल्पलाइन की परियोजना प्रबंधक प्रमिला कुमारी ने बताया कि पांच दिनों पहले पीड़िता ने शादी का झांसा देने के नाम पर शैलेश कुमार के साथ 15 वर्षों से लिव इन रिलेशन में रहने  की शिकायत दर्ज करायी थी. जिसमें  उसने बताया कि वह गरीब परिवार से है।

वह मूलरूप से धनरूआ की रहने वाली है। गरीबी के कारण उसके माता-पिता ने 12 वर्ष में ही उसकी शादी कर दी थी, पर डेढ़ वर्ष बाद ही उसके पति की मृत्यु हो गयी। गरीबी के कारण गांव के चाचा की मदद से पटना के शास्त्रीनगर में सिलाई की दुकान चलाने वाले शैलेश कुमार के यहां नौकरी दिला दी गयी। दुकानदार शैलेश कुमार ने आरती देवी की मदद की। उसके साथ 15 वर्ष तक लिव इन रिलेशन में भी रहा। उसके माता-पिता जब उसकी शादी कराने की बात करते तो, शैलेश शादी नहीं करने देता।

आरती ने बताया कि मैं भी शैलेश को पंसद करने लगी थी, इसलिए शादी नहीं की और उसे पति मान कर उसके साथ रहने लगी लेकिन, अब वह शादी कर रहा है। दुकान भी बेच कर जा रहा है। ऐसे में मेरे पास कमाई का कोई दूसरा जरिया नहीं है। आधी उम्र भी खत्म हो गयी है।

माता-पिता भी बूढ़े हो गये हैं। ऐसे में अब मैं सड़क पर आ गयी हूं। मेरे पास खाने के लिए भी पैसे नहीं हैं। इस पर महिला हेल्पलाइन ने आरती देवी और शैलेश कुमार दोनों को काउंसलिंग के लिए बुलाया था। जहां शैलेश कुमार अपनी बात से मुकर गया और साथ ही हजारों महिला के साथ संबंध बनाने और छोड़ने की धमकी देकर काउंसलिंग प्रक्रिया अधूरी छोड़ कर चला गया।

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned