फर्जी चिकित्सक की नियुक्ति का मामला: डॉक्टर से घंटों पूछताछ

Shankar Sharma

Publish: May, 19 2017 12:14:00 (IST)

Kolkata, West Bengal, India
फर्जी चिकित्सक की नियुक्ति का मामला: डॉक्टर से घंटों पूछताछ

उत्तर बंगाल से गिरफ्तार फर्जी चिकित्सक कैजर आलम के मामले की जांच कर रही सीआईडी ने गुरुवार को रुबी अस्पताल के पूर्व चिकित्सक को तलब किया

कोलकाता. उत्तर बंगाल से गिरफ्तार फर्जी चिकित्सक कैजर आलम के मामले की जांच कर रही सीआईडी ने गुरुवार को रुबी अस्पताल के पूर्व चिकित्सक को तलब किया। चिकित्सक अरिन्दम चंद्र से सीआईडी ने घंटों पूछताछ की। सीआईडी सूत्रों के अनुसार, उक्त चिकित्सक ने एक भी प्रश्र का संतोषजनक उत्तर नहीं दिया।

सीआईडी की ओर से बुधवार को रुबी अस्पताल के पूर्व चिकित्सक अरिन्दम सील को समन जारी किया। उनको गुरुवार सुबह 11 बजे भवानीभवन स्थित सीआईडी के कार्यालय आने को कहा गया।

पूर्व चिकित्सक अरिन्दम सील गुरुवार लगभग सवा 11 बजे भवानीभवन पहुंचे। उनसे सीआईडी ने घंटों पूछताछ की। उनसे सीआईडी ने जानना चाहा कि उन्होंने बिना किसी जानकारी के कैसे एक चिकित्सक को कैरेक्टर सर्टिफिकेट दे दिया। साथ ही उसे मेधावी बताया।

उन्होंने क्या इस सर्टिफिकेट को जारी करने के पहले पुलिस से सत्यापन करने की कोशिश की। या अन्य किसी संस्था या किसी भी कुछ जानने की कोशिश की। सीआईडी के अनुसार उन्होंने एक भी प्रश्र का संतोषजनक उत्तर नहीं दिया।
 
सीआईडी उन्हें फिर से बुलाने की सोच रही है। इससे पहले रुबी अस्पताल के चार और चिकित्सकों को सीआईडी ने तलब किया। उत्तर दिनाजपुर के चोपड़ा से गिरफ्तार चिकित्सक कैजर आलम ने ई एम बाइपास के रूबी अस्पताल में डेढ़ वर्ष तक अपनी सेवा दी थी। अस्पताल ने चिकित्सक को मेधावी चिकित्सक का कैरेक्टर सर्टिफिकेट भी दिया था। सीआईडी का दावा है कि  कैजर आलम ने वर्ष 2010 मार्च से 11 सितम्बर 2011 तक रूबी अस्पताल में रेसिडेंसियल ऑफिसर या आरएमओ के तौर पर काम किया था। लेकिन उस चिकित्सक के पास माध्यमिक का सर्टिफिकेट भी सही है या नहीं, यह भी संदेहजनक है।

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned