अवैध पार्किंग हुई तो जुर्माना देंगी को-ऑपरेटिव

Shankar Sharma

Publish: Jun, 20 2017 11:39:00 (IST)

Kolkata, West Bengal, India
अवैध पार्किंग हुई तो जुर्माना देंगी को-ऑपरेटिव

कोलकाता नगर निगम अवैध पार्र्किंग के लिए को-ऑपरेटिव संस्थाओं को जिम्मेदार मान रहा है। निगम ने सभी को-ऑपरेटिव सोसाइटी से साफ कर दिया कि उनके इलाके में अवैध पार्र्किंग की जिम्मेदारी उन्हें ही लेनी पड़ेगी


कोलकाता. कोलकाता नगर निगम अवैध पार्र्किंग के लिए को-ऑपरेटिव संस्थाओं को जिम्मेदार मान रहा है। निगम ने सभी को-ऑपरेटिव सोसाइटी से साफ कर दिया कि उनके इलाके में अवैध पार्र्किंग की जिम्मेदारी उन्हें ही लेनी पड़ेगी। अवैध पार्र्किंग का जुर्माना कोआपरेटिव से ही वसूला जाएगा।

निगम ने तय किया है कि औचक निरीक्षण में आवंटित पार्र्किंग में अधिक संख्या में गाडिय़ां पार्क मिली तो उस क्षेत्र की को ऑपरेटिव संस्था पर जुर्माना लगाया जाएगा। उनसे ऑन स्पॉट जुर्माना वसूला जाएगा। महानगर में 32 से अधिक को ऑपरेटिव व 70 से अधिक पार्र्किंग जोन है।  कई क्षेत्रों में अवैध पार्र्किंग की समस्या है।

कोऑपरेटिव तय सीमा से अधिक पार्र्किंग शुल्क भी वसुलते हंै। धर्मतल्ला में एक घंटे के लिए 10 रुपए की बजाए  50 से 100 रुपए तक का शुल्क वसूला जाता है। तय संख्या से ज्यादा गाडिय़ां पार्क कराई जाती हैं। मेयर परिषद के सदस्य देवाशीष कुमार ने बताया कि महानगर में अवैध पार्र्किंग की शिकायतें मिल रही हैं। निगम उन शिकायतों के आधार पर ही कार्रवाई करेगा।



Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned