ममता ने भाजपा को माना चुनौती

Shankar Sharma

Publish: Apr, 22 2017 12:28:00 (IST)

Kolkata, West Bengal, India
ममता ने भाजपा को माना चुनौती

तृणमूल कांग्रेस प्रमुख और मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने शुक्रवार को पश्चिम बंगाल में भाजपा को चुनौती के रूप में स्वीकार किया और पार्टी कार्यकर्ताओं से भाजपा को रोकने के लिए अभी से कमर कसने

कोलकाता. तृणमूल कांग्रेस प्रमुख और मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने शुक्रवार को पश्चिम बंगाल में भाजपा को चुनौती के रूप में स्वीकार किया और पार्टी कार्यकर्ताओं से भाजपा को रोकने के लिए अभी से कमर कसने, माकपा कार्यकर्ताओं को पार्टी में शामिल करने और क्षेत्रीय दलों से एकजुट होने का आह्वान किया।

लगातार चौथी बार पार्टी की कमान संभालने के बाद ममता बनर्जी ने आरोप लगाया कि भाजपा और केन्द्र सरकार तृणमूल कांग्रेस के खिलाफ साजिश रच रही है। लिहाजा पार्टी कार्यकर्ता जमीनी स्तर पर पूरी मजबूती से सक्रिय हो जाएं। दो साल तक बिना विश्राम किए और बिना रुके अपने अभियान में जुट जाएं। वे नेताजी इनडोर स्टेडियम में तृणमूल कांग्रस के सांगठनिक चुनाव के मौके पर बोल रही थीं। इस मौके पर पार्टी के सभी बड़े नेता उपस्थित थे।

ब्लॉक स्तर पर प्रचार
क्षेत्रीय पार्टियों से गठबंधन करने का ऐलान करते हुए ममता बनर्जी ने कहा कि धर्म लोगों को जोड़ता है, जबकि धर्म के नाम पर भाजपा हिंसा फैलाती है और लोगों को बांटती है। इसे रोकने के लिए उनकी पार्टी राज्यों के ब्लॉक स्तर पर प्रचार करेगी और क्षेत्रीय पार्टियों की मदद करेगी। कहीं पर वह क्षेत्रीय पार्टियों का समर्थन करेंगी और कहीं पर अकेले चुनाव लड़ेगी।

साजिश रचने वालों पर कार्रवाई
उन्होंने आरोप लगाया कि राज्य में अशान्ति फैलाने के लिए भाजपा, आरएसएस और बजरंग दल बिहार, झारखंड, महाराष्ट्र से लोगों को यहां ला रहे हैं। विधानसभा चुनाव में भाजपा ने गुजरात से लोगों को बुलाया था। ऐसी खबर मिलते ही पार्टी कार्यकर्ता तुरन्त पुलिस, पार्टी विधायक और सांसद को बताएं। नहीं तो वे सीधे उनके घर पर लिखित सूचित करें। साजिश रचने वालों पर कार्रवाई होगी। पुलिस अपना काम करेगी और पार्टी अपने स्तर पर कदम उठाएगी।  

दंगाबाजों को रोकेंगे
प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की ओर इशारा करते हुए उन्होंने कहा कि जब मिट्टी नरम होती है तो चूहा भी कुतरता है, लेकिन जब मिट्टी कड़ी होगी तो रॉयल बंगाल टाइगर तो क्या भारत का शेर भी कुछ नहीं कर पाएगा। उन्होंने दावा किया कि भाजपा कांग्रेस और माकपा पर नहीं बल्कि सिर्फ तृणमूल कांग्रेस पर वार कर रही है, क्योंकि वो हम से डरती है। दंगाबाजों को रोकने के लिए हम लड़ेंगे। बदले की राजनीति करने वालों को नहीं छोड़ेंगे।

माकपा समर्थकों को भाजपा में शामिल होने से रोकें
रणनीति के तहत उन्होंने माकपा कार्यकर्ताओं को भाजपा में शामिल होने से रोकने का भी आह्नान किया। ममता ने दावा किया कि माकपा अपने वोट भाजपा के पाले में डलवाती है। सीबीआई से बचने के लिए पार्टी कभी कांग्रेस से और कभी भाजपा से हाथ मिलाती है। आप सभी इसका ध्यान रखें कि बंगाल के माकपा कार्यकर्ता भाजपा में नहीं जा पाएं।

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned