राष्ट्रपति चुनाव: बंगाल विस में पड़े 337 वोट 

Shankar Sharma

Publish: Jul, 18 2017 05:53:00 (IST)

Kolkata, West Bengal, India
राष्ट्रपति चुनाव: बंगाल विस में पड़े 337 वोट 

राष्ट्रपति चुनाव को लेकर सोमवार को पश्चिम बंगाल विधानसभा में उत्सव के माहौल के बीच सत्तापक्ष तथा विपक्षी सदस्यों के अलावा लोकसभा और राज्यसभा के कई सांसदों ने अपने मताधिकार का प्रयोग

कोलकाता. राष्ट्रपति चुनाव को लेकर सोमवार को पश्चिम बंगाल विधानसभा में उत्सव के माहौल के बीच सत्तापक्ष तथा विपक्षी सदस्यों के अलावा लोकसभा और राज्यसभा के कई सांसदों ने अपने मताधिकार का प्रयोग किया। इस दिन सुबह से ही विस परिसर की सुरक्षा चाक चौबंद थी। मतदान सुबह 10 बजे शुरू हुआ। कुल 337 वोट पड़े हैं। इनमें सभी 294 विधायक, लोकसभा के 31 व राज्यसभा के 11 सांसद तथा त्रिपुरा विधानसभा के स्पीकर शामिल हैं।

सबसे पहले तृणमूल कांग्रेस के वरिष्ठ विधायक तथा पूर्व मंत्री रविरंजन चट्टोपाध्याय ने मतदान किया, जबकि तृणमूल के निलम्बित सांसद कुणाल घोष अंतिम मतदाता थे। तृणमूल सांसद दीपक अधिकारी उर्फ देब व सुगत बोस तथा राज्यसभा सांसद के.डी. सिंह ने संसद भवन में अपना वोट डाला।मतदान की प्रक्रिया केंद्रीय पर्यवेक्षक लीना नन्दन की उपस्थिति में सम्पन्न हुई। बैलट बॉक्स को विधानसभा परिसर में स्थापित स्ट्रांग रूम में सील कर दिया गया।

मीरा के पक्ष में अधिक वोट की उम्मीद
पश्चिम बंगाल विधानसभा में पड़े वोटों में सबसे अधिक मत राष्ट्रपति पद की विपक्षी उम्मीदवार मीरा कुमार के पक्ष में जाने की संभावना है। कारण राज्य की सत्तारूढ़ तृणमूल कांग्रेस, प्रमुख विपक्ष कांग्रेस व वाममोर्चा ने कुमार के पक्ष मतदान की घोषणा की है।

एनडीए उम्मीदवार रामनाथ कोविन्द के पक्ष में भाजपा के तीन विधायकों तथा दो लोकसभा सांसदों के अलावा पहाड़ की पार्टी गोरखा जनमुक्ति मोर्चा के तीन विधायक रहे। मतदान के बाद मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने अपनी प्रतिक्रिया में कहा कि   उनके लिए आज का दिन खुशी वाला है। राष्ट्रपति चुनाव में हार निश्चित जानते हुए भी तृणमूल  प्रतिरोध, अत्याचार, गौरक्षा के नाम पर हिंसा व दंगा फैलाने और संघीय ढांचे पर प्रहार होने के खिलाफ मतदान किया है।

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned