महिला दिल्ली जाकर करना चाहती थी यह क्राइम, पुलिस ने बस रोककर रंगे हाथों पकड़ा

Jagdalpur, Chhattisgarh, India
महिला दिल्ली जाकर करना चाहती थी यह क्राइम, पुलिस ने बस रोककर रंगे हाथों पकड़ा

एनएच 30 में जांच के दौरान पुलिस ने रायपुर जा रही बस से 9 बैग में रखा 97 किलो गांजा बरामद किया...

कोण्डागांव. पुलिस ने महिला तस्कर से इतना गांजा बरामद किया जिससे पूरी दिल्ली में खलबली मच सकती थी। एनएच 30 में जांच के दौरान पुलिस ने रायपुर जा रही बस से 9 बैग में रखा 97 किलो गांजा बरामद किया। गांजे की तादाद इतनी है कि दिल्ली के यूथ के लिए यह खतरनाक साबित होता। जब्त गांजे की कीमत पुलिस ने ढाई लाख रुपए आंकी है पर दिल्ली पहुंचते ही इसकी कीमत कई गुना अधिक हो जाती।

पुलिस को मुखबिर से गांजे के अवैध परिवहन की सूचना मिली थी। केशकाल बस स्टैण्ड में महिन्द्रा टे्रव्हल्स की बस को रोककर जांच की गई तो आरोपी मो. अरमान खान व रहसुन निवासी दिल्ली को गांजा परिवहन करते मिले। इनके पास से 9 कैरी बैग बरामद किया गया जिसमें गांजा भरा हुआ था। पुलिस ने गांजे को जब्त कर आरोपियों को हिरासत में लिया है।

दो माह में चार क्विंटल गांजा जब्त
पिछले दो माह में कोण्डागांव पुलिस ने अलग-अलग मामले में चार क्विंटल गांजा बरामद किया है। करीब आधा दर्जन आरोपी गिरफ्तार किए गए हैं। तीन लग्जरी वाहन भी पकड़े गए हैं।

बार्डर पार करते ही गई गुना बढ़ जाती है कीमत
यहां ओडिशा के मलकानगिरी इलाके में गांजे की खेती की जाती है। नक्सल प्रभावित इलाका होने का फायदा उठाते हुए ग्रामीण बड़ी तादाद में इसकी खेती करते हैं। यहीं से गांजा बस्तर से होते हुए दूसरे प्रदेशों में तस्करी की जाती है। उत्तरप्रदेश, दिल्ली पहुंचते ही इस गांजे की कीमत कई गुना बढ़ जाती है।

यहां जिस गांजे की कीमत एक लाख रुपए होती है दिल्ली में वहीं गांजा बीस से 25 लाख रुपए कीमत का हो जाता है। इस कारण तस्करों के लिए यह फायदे को सौदा साबित होता है और वे जान जोखिम में डाल इस काम को करते हैं। मालूम हो इस मामले में पकड़े जाने पर अधिकतम बीस साल की सजा है। इसके बावजूद वे पैसे के लालच में रिस्क उठाकर यह काम करते हैं।

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned