हटाए गए सुरक्षाकर्मियों को दोबारा मिल सकता है नौकरी का मौका, डीजीआर ने दिया आश्वासन

Korba, Chhattisgarh, India
 हटाए गए सुरक्षाकर्मियों को दोबारा मिल सकता है नौकरी का मौका, डीजीआर ने दिया आश्वासन

एसईसीएल में काम से हटाए गए सुरक्षा कर्मियों को दोबारा मौका मिल सकता है। प्रबंधन की मांग पर डीजीआर  (डायरेक्टर जनरल रिसेटलमेंट) ने छत्तीसगढ़ के लिए नया स्पॉन्सरशिप देने का आश्वासन दिया है।

कोरबा. एसईसीएल में काम से हटाए गए सुरक्षा कर्मियों को दोबारा मौका मिल सकता है। प्रबंधन की मांग पर डीजीआर  (डायरेक्टर जनरल रिसेटलमेंट) ने छत्तीसगढ़ के लिए नया स्पॉन्सरशिप देने का आश्वासन दिया है।

दो साल से डीजीआर छत्तीसगढ़ के लिए नया स्पॉनरशिप नहीं दे रहा है। इसके कारण एसईसीएल में निजी सिक्यूरिटी एजेंसी की सेवाएं खत्म हो गई है।

एसईसीएल मेंं निजी सिक्यूटी एजेंसी की सेवाएं खत्म होने के बाद कोरबा, कुसमुंडा, दीपका और गेवरा एरिया में करीब 400 सिक्यूरिटी गार्ड बेरोजगाए हुए हैं।

देखें वीडियो :


काम पर दोबारा रखने की मांग को लेकर कोरबा एरिया में क्रमिक भूख हड़ताल पर बैठे हैं। कुसमुंडा में जारी सिक्यूरिटी गार्डों की क्रमिक भूख हड़ताल 10 दिन पहले खत्म हुई थी। तब प्रबंधन ने उन्हें दूसरे काम में नियोजित करने का अश्वासन दिया था।

श्रमिक संगठन सीटू ने सुरक्षाकर्मियों को काम पर वापस रखने की मांग करते हुए एसईसीएल सीएमडी को ज्ञापन सौंपा था। इसके जवाब में एसईसीएल मुख्यालय बिलासपुर के सुरक्षा प्रमुख ने सीटू के डिप्टी जनरल सेक्रेटरी वीएम मनोहर को बताया है कि वर्ष 2015 से डीजीआर से एसईसीएल के लिए स्पॉन्सरशिप प्राप्त नहीं हुई है।

पूर्व में प्राप्त स्पॉन्सरशिप की कार्य अवधि और एक्सटेंशन अवधि पूरी हो चुकी है। इस कारण निजी सिक्यूरिटी एजेंसी की सेवाएं समाप्त हुई है।

नए स्पॉन्सरशिप के लिए डीजीआर से पत्र व्यवहार किया गया है। डीजीआर ने नया स्पॉनशरशिप देने का आश्वासन दिया है। इसके बाद कंपनी में निजी सिक्यूरिटी एजेंसी की सेवाएं बहाल हो सकती है।

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned