चुनावी चक्रव्यूह में अकेले उतरेंगे अखिलेश, 3 नवम्बर से दौड़ेगा विकास रथ

Lucknow, Uttar Pradesh, India
चुनावी चक्रव्यूह में अकेले उतरेंगे अखिलेश, 3 नवम्बर से दौड़ेगा विकास रथ

अखिलेश यादव ने अपनाई एकला चलो की नीति, 3 नवम्बर से निकलेगा विकास रथ.अखिलेश यादव विकास रथ लेकर अकेले उतरेंगे मैदान में, 3 नवम्बर से दौड़ेगा विकास रथ, युवाओं की टीम और संगठन को तैयारियों में जुटने के लिए कह दिया है

लखनऊ. आखिरकार वहीं हुआ जिसका सभी अनुमान लगा रहे थे। उत्तर प्रदेश के सीएम अखिलेश यादव ने एकला चलो की नीति अपनाई है और विकास रथ को वो अकेले ही मैदान पर लेकर निकलेंगे। पिछले ही सप्ताह अखिलेश यादव ने एक इंटरव्यू में कह दिया था कि वो खुद में सक्षम हैं औऱ जरूरत पड़ने पर वह अकेले ही पार्टी के प्रचार प्रसार के लिए निकल पड़ेंगे। उनकी ये कहनी आज करनी में तब्दील हो गई है। 

उन्होंने आज कहा कि वह किसी के भी फैसले का इंताजर नहीं करेंगे और 3 नवम्बर को वो अकेले ही विकास रथ लेकर निकल पड़ेंगे। जिसमें वो पार्टी के विकास कार्यो और उपलब्धियों का प्रचार करेंगे। उन्होंने इसके लिए युवाओं की टीम और संगठन को तैयारियों में जुटने के लिए कह दिया है।

Vikas Rath

आज सुबह ही राशन कार्ड वितरण कार्यक्रम में ही अखिलेश यादव के तेवर कुछ जुदा जुदा थे। उन्होंने कार्यकारिणी की बैठक में शामिल होने के मुद्दे पर जवाब देते हुए कहा कि वो इस बारे में आज कुछ नहीं बोलेंगे। हालांकि उन्होंने बाद में ये जरूर कहा आप को तो पता ही होगा कि राज्य कार्यकारिणी की बैठक में कौन लोग जाते हैं। अखिलेश की इस बात से साफ झलक रहा था कि वे बैठक में या पार्टी दिग्गजों के किसी कार्य में शामिल होने के मूड में नहीं हैं।

अखिलेश के इंटरव्यू को नहीं किया था पिता मुलायम ने पसंद-

अखिलेश द्वारा अंग्रेजी अखबार को दिए इंटरव्यूू में अपनाए गए तल्ख तेवर को पिता मुलायम सिंह यादव ने पसंद नहीं किया था। उन्होंने इसके बाद ये तक कह दिया था कि पार्टी के सीएम चेहरे पर फैसला चुनाव जीतने के बाद पार्टी के विधायक करेंगे। हालांकि पार्टी से प्रदेश अध्यक्ष शिवपाल यादव ने अपने इंटरव्यू में ये कह दिया था कि अखिलेश यादव ही पार्टी के चेहरे होंगे। इससे साफ पता चलता है कि पार्टी के भीतर फैसलों को लेकर सबकी अलग-अलग राय है और एकता खत्म हो रही है।

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned