75% से कम अटेंडेंस तो नहीं मिलेगी एग्जाम में एंट्री

Lucknow, Uttar Pradesh, India
75% से कम अटेंडेंस तो नहीं मिलेगी एग्जाम में एंट्री

डॉ. एपीजे अब्दुल कलाम टेक्निकल यूनिवर्सिटी में इस बार जिस स्टूडेंट की अटेंडेंस 75 प्रतिशत से कम होगी, उनका एडमिट कार्ड नहीं जारी होगा

लखनऊ. डॉ. एपीजे अब्दुल कलाम टेक्निकल यूनिवर्सिटी में इस बार जिस स्टूडेंट की अटेंडेंस 75 प्रतिशत से कम होगी, उनका एडमिट कार्ड नहीं जारी होगा। ऐसे में वह विद्यार्थी एग्जाम में नहीं बैठ सकेगा। यूनिवर्सिटी प्रशासन की ओर से बुधवार को सभी कॉलेजों को सर्कुलर जारी कर दिया गया। वहीं कॉलेजों से ऐसे विद्यार्थियों की सूची मांगी गई है, जिनकी अटेंडेंस कम है।

 परीक्षा नियंत्रक प्रो. जेपी पांडेय ने बताया कि इस बार यूनिवर्सिटी विद्यार्थी का एडमिट कार्ड ऑनलाइन जारी करेगा। यही वजह है कि यूनिवर्सिटी ने सभी विद्यार्थियों की अटेंडेंस का ब्योरा कॉलेजों से मांगा है। इसमें जिन विद्यार्थियों की अटेंडेंस कम होगी, उनके एडमिट कार्ड यूनिवर्सिटी वेबसाइट पर अपलोड नहीं होंगे। यूजी और पीजी की 6 दिसंबर से परीक्षाएं शुरू होने जा रही है। इससे पहले एडमिट कार्ड वेबसाइट पर जारी कर दिए जाएंगे। ऐसे में विद्यार्थियों को समय से एडमिट कार्ड भी मुहैया करवा दिए जाएंगे।

बारकोड से ट्रैक होंगे विद्यार्थियों के रेकॉर्ड

एकेटीयू प्रशासन ने एडमिशन में हो रहे फर्जीवाड़े पर लगाम लगाने की तैयारी कर ली है। यूनिवर्सिटी में सत्र 2016-17 के एडमिशन का एनरॉलमेंट चल रहा है। इस बार विद्यार्थियों का ऑनलाइन एनरॉलमेंट फॉर्म सबमिट करने पर हर फॉर्म में ऑटोमैटिकली एक बारकोड जनरेट किया जा रहा है। ऐसे में सिर्फ बारकोड स्कैन करते ही विद्यार्थियों की पूरी जानकारी सभी प्रमाण पत्रों के साथ स्क्रीन पर आ जाएगी। इसके बाद प्रमाणपत्रों को हॉर्ड कॉपी से मैच करवाकर ही एनरॉलमेंट होगा।

एकेटीयू वीसी प्रो. विनय पाठक ने बताया कि इस व्यवस्था के बाद एक ओर छात्रों के एनरॉलमेंट जल्दी होंगे, वहीं फर्जीवाड़े पर पूरी तरह से लगाम लगाई जा सकेगी। इसमें एक बार ऑनलाइन वेरिफिकेशन होगा तो दूसरी बार बारकोड के माध्यम से वैरिफिकेशन करवाया जाएगा। उन्होंने बताया कि गलत प्रमाण पत्र लगाने पर एनरॉलमेंट नहीं होगा। इस बार साफ्टवेयर के माध्यम से लगभग 500 विद्यार्थियों का फर्जीवाड़ा पकड़ा गया है, जिन्होंने फेल होने के बाद भी दूसरी क्लास में एडमिशन के लिए आवेदन कर रखा था।

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned