2019 में मोदी-शाह से निपटने का मायावती ने बनाया रोडमैप, संगठन की कर डाली "ओवरहालिंग"

Ruchi Sharma

Publish: Apr, 21 2017 11:11:00 (IST)

Lucknow, Uttar Pradesh, India
2019 में मोदी-शाह से निपटने का मायावती ने बनाया रोडमैप, संगठन की कर डाली

2019 की तैयारी में जुटीं मायावती, संगठन की कर डाली "ओवरहालिंग"

लखनऊ. लगातार तीन चुनावों में करारी हार के बाद बीएसपी सुप्रीमो मायावती का नगर निकाय चुनाव में पार्टी के सिंबल के साथ उतरने का फैसला "2019" की जमीन तैयार करने के लिए लिया गया है। मायावती के इस फैसले को बीजेपी के खिलाफ होने वाले संभावित महागठबंधन की राजनीति के लिए पार्टी संगठन को तैयार करने की उनकी कोशिश माना जा रहा है। महागठबंधन का हिस्सा होने का संकेत देने के बाद मायावती संगठन की ओवरहालिंग में जुट गई हैं।

इसी कड़ी में उन्होंने जो बदलाव किए उसके अनुसार पहले जहां बीएसपी के संगठन में 10 से भी ज्यादा जोन हुआ करते थे, वहीं अब पार्टी में सिर्फ दो जोन होंगे। हर जोन में 9 डिविजन होंगे। बीएसपी ने पार्टी मामलों की देखरेख के लिए दोनों जोन में 8 कोऑर्डिनेटर नियुक्त किए हैं। हालांकि की पार्टी संगठन में हुए इस बदलाव की कोई आधिकारिक घोषणा नहीं की गई है। 
बीएसपी के सूत्रों ने बताया कि लखनऊ, अलीगढ़, मेरठ, सहारनपुर, मुरादाबाद, बरेली, चित्रकूट और झांसी को संगठन के भीतर पहले जोन में रखा गया है। राज्यसभा सदस्य अशोक सिद्धार्थ, नौशाद अली और आर एस कुशवाहा समेत 8 कोऑर्डिनेटर्स पहले जोन में काम करेंगे।

दूसरे जोन में 8 डिवीजन हैं जिनमें कानपुर, इलाहाबाद, वाराणसी, फैजाबाद, बस्ती, मिर्जापुर, देवीपाटन, आजमगढ़ और गोरखपुर। बीएसपी ने इस जोन के लिए 8 कोऑर्डिनेटर्स को तैनात किया है, जिनमें रामअचल राजभर, लालजी वर्मा और मुनकाद अली भी शामिल हैं।

मायावती ने कतरे नसीमुद्दीन के पर

मायावती ने नई व्यवस्था में पार्टी के लिए अहम मुस्लिम चेहरा रहे और पूर्व मंत्री नसीमुद्दीन सिद्दीकी का रोल घटा दिया है। सूत्रों ने बताया कि सिद्दीकी अब मध्य प्रदेश और छत्तीसगढ़ में पार्टी का कामकाज देखेंगे। बीएसपी के एक सूत्र ने बताया, 'पार्टी के मामलों में उनका रोल लखनऊ डिवीजन में होगा। वह पार्टी के उस प्रतिनिधिमंडल का भी हिस्सा होंगे, जो राज्य में बीएसपी शासन के दौरान बने स्मारकों के सही प्रबंधन के लिए मुख्यमंत्री से मिलने वाला है।'

अब बीएसपी का भी होगा महानगर अध्यक्ष 

बीएसपी ने महानगर अध्यक्ष का भी नया पद बनाया है। यह वैसे शहरों के लिए होगा, जहां म्यूनिसिपल कॉरपोरेशन हैं। बीएसपी सुप्रीमो मायावती ने पूर्व मंत्रियों- नकुल दूबे और अनंत मिश्रा को लखनऊ और कानपुर का महानगर अध्यक्ष चुना है। बीएसपी के महानगर अध्यक्षों को अपने इलाकों में शहरी नगर निकाय चुनाव में सही उम्मीदवार चुनने की जिम्मेदारी होगी।

सूत्रों ने बताया कि बीएसपी सुप्रीमो मायावती ने राज्य की सभी जोन, डिविजन और असेंबली सीटों की पुरानी कमिटियों को भंग कर दिया है। भाईचारा कमेटियों को भी भंग कर दिया गया है। 

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned