राष्ट्रपति उम्मीदवार घोषित करने से पहले विपक्ष को विश्वास में लेना चाहिए था : मायावती

Hariom Dwivedi

Publish: Jun, 19 2017 09:23:00 (IST)

Lucknow, Uttar Pradesh, India
राष्ट्रपति उम्मीदवार घोषित करने से पहले विपक्ष को विश्वास में लेना चाहिए था : मायावती

मायावती ने यह भी कहा कि अगर विपक्ष कोई लोकप्रिय दलित का नाम इस पद के लिए लाता है तो वे उस पर भी विचार करेंगी

लखनऊ. एनडीए के राष्ट्रपति उम्मीदवार पर बसपा सुप्रीमो मायावती ने सकारात्मक रुख अपनाया है। उन्होंने कहा कि चूंकि एनडीए प्रत्याशी रामनाथ कोबिंद दलित हैं, इसलिए उनके नाम को लेक पार्टी की सोच पॉजिटिव है। लेकिन इस दौरान मायावती ने यह भी कहा कि अगर विपक्ष कोई लोकप्रिय दलित का नाम इस पद के लिए लाता है तो वे उस पर भी विचार करेंगी।

मायावती ने कहा कि यदि रामनाथ कोबिंद के नाम की घोषणा करने से पहले एनडीए पूरे विपक्ष को विश्वास में लेता तो ज्यादा बेहतर होता। उन्होंने कहा कि बेहतर होता अगर एनडीए किसी गैर-राजनैतिक दलित चेहरे को अपना राष्ट्रपति उम्मीदवार बनाती। गौरतलब है कि सोमवार को भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह ने एनडीए की ओर से रामनाथ कोबिंद को राष्ट्रपति पद का प्रत्याशी घोषित किया है।


कौन हैं रामनाथ कोविंद
- रामनाथ कोविंद का जन्म एक अक्टूबर 1945 को कानपुर जिले के परौंख गांव में हुआ था।
- रामनाथ कोबिंद मौजूदा समय में बिहार के राज्यपाल हैं।
- कोबिद का जन्म एक अक्टूबर 1945 को उत्तर प्रदेश के कानपुर देहात में हुआ था।
- कानपुर यूनिवर्सिटी से बीकॉम और एलएलबी की पढ़ाई की है।
- कोबिंद गवर्नर्स ऑफ इंडियन इंस्टिट्यूट ऑफ मैनेजमेंट के भी सदस्य रहे हैं।

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned