..जब कानून मंत्री ही भूल गए पुलिस का इमरजेंसी नंबर '100'

Lucknow, Uttar Pradesh, India
..जब कानून मंत्री ही भूल गए पुलिस का इमरजेंसी नंबर '100'

अपराध रोकने की बात, लेकिन 100 नंबर पर आती है पुलिस, खुद ही नहीं याद

लखनऊ। चुनावी दौर में भारतीय जनता पार्टी अपने कद्दावर मंत्रियों का दमखम भी प्रदेश में सत्ता पाने के लिए झोंक रही है। शिक्षा, किसान और सुरक्षा के मुद्दों पर विरोधियों को घेर रही है। ऐसे में गुरूवार शाम को देश के कानून और सूचना मंत्री रविशंकर प्रसाद लखनऊ पहुंचे। वैसे तो उन्होंने सपा राज्य में अपराध का ग्राफ बढ़ने की बातें की लेकिन खुद ही पुलिस हेल्पलाइन नंबर 100 भूल बैठे।

अपने बयान की शुरुआत में ही उन्होंने कहा कि जब वो लखनऊ आते हैं तो हर तरफ पुलिस हेल्पाइन नंबर 109 का बोर्ड देखते हैं। इतना बोलते ही मंच पर बैठे अन्य लोगों ने उन्हें सही करते हुए याद दिलाया कि पुलिस हेल्पाइन नंबर 109 नहीं 100 है। विडम्बना है कि पूरे देश में 100 नंबर पुलिस का है लेकिन कानून मंत्री खुद ही ये भूल बैठे।

और क्या कहा

इसके बाद उन्होंने अपने आप को सही करते हो अन्य बातें जारी रखीं। उन्होंने कहा कि

-यूपी में काम नहीं अपराध बोलता है।
-प्रदेश में अचार सहिंता के दौरान अपराध का ग्राफ बढ़ रहा है।
-बीते गुरूवार को नरेन्द्र मोदी की कन्नौज में रैली में भीड़ देख कर कन्नौज की बिजली काट दी गयी ताकि लोग टीवी न देख सके।
-जिस विधायक पर रेप का आरोप था उसी के क्षेत्र से सीएम अखिलेश यादव ने प्रचार शुरू किया।
बाद में उस महिला की लाश मिली और उसके पति ने एफआईआर दर्ज कराइ जिस पर कोई कार्रवाही नहीं हुई।
-राम मंदिर मुद्दे के वो पैरोकार रह चुके हैं इसलिए उन्हें उम्मीद है कि सुप्रीम कोर्ट से जल्द न्याय मिलेगा।
-लोकायुक्त की नियुक्ति पर खुद सुप्रीम कोर्ट ने कहा था कि प्रदेश उसे गुमराह कर रहा है। ऐसा पहली बार हुआ है।
-अखिलेश यादव को मैं बताना चाहता हूं कि कांग्रेस केवल अपने परिवार के लोग ही पसंद करती है। वीपी सिंह, चौधरी चरण सिंह, चंद्रशेखर और पीवी नरसिम्हाराव के साथ कांग्रेस ने क्या किया यह किसी से छिपा हुआ नहीं है।
-सपा सरकार हर जगह लोहिया की बात करती है, लोहिया बस सेवा, लोहिया स्वास्थ्य सेवा जैसी योजनाएं चलाती है। राममनोहर लोहिया की आत्मा सपा का पारिवारिक प्रमोशन देख कर रोती होगी। इस लिए मुलायम सिंह लोहिया का नाम लेना बंद कर दें। 

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned