सीएम अखिलेश ने 80 हजार बेरोजगारों को दिखाई राह, किया ये बड़ा काम

Lucknow, Uttar Pradesh, India
सीएम अखिलेश ने 80 हजार बेरोजगारों को दिखाई राह, किया ये बड़ा काम

मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने बुधवार को लखनऊ में योग गुरु बाबा रामदेव के पतंजलि आयुर्वेद लिमिटेड की ओर से स्थापित किये जाने वाले फूड पार्क का शिलान्यास किया

लखनऊ. मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने बुधवार को लखनऊ में योग गुरु बाबा रामदेव के पतंजलि आयुर्वेद लिमिटेड की ओर से स्थापित किये जाने वाले फूड पार्क का शिलान्यास किया। यमुना एक्सप्रेस वे प्राधिकरण क्षेत्र में पतंजलि आयुर्वेद लिमिटेड की ओर से स्थापित किये जाने वाले फूड पार्क का शिलान्यास कार्यक्रम मुख्यमंत्री के नये कार्यालय लोक भवन में आयोजित किया गया। पंतजलि आयुर्वेद यमुना एक्सप्रेस वे प्राधिकरण क्षेत्र में 1666.8 करोड़ रुपये की लागत से 455 एकड़ क्षेत्रफल पर फूड पार्क की स्थापना करेगा।

इसके चलते रामदेव ने लोकभवन में सीएम अखिलेश यादव की तारीफ करते हुए कहा कि यूपी के सीएम अख‌िलेश यादव अच्छे संस्कार वाले हैं। वही अख‌िलेश यादव ने कहा, मुझे खुशी तब होती है जो इस देश में 40-50 साल से कंपनियां काम कर रही थीं उन्हें कहना पड़ा कि हमारा पतंजल‌ि से कोई कॉम्पिटीशन नहीं। इस प्रोडक्ट का अहसास उन लोगों को भी है जो करोड़ों रुपए अपनी ब्रांडिंग में खर्च कर रहे हैं। आज के समय के हिसाब से आप जिन चीजों को लेकर आए जिस वक्त आप योग लेकर आए थे उस वक्त देश को योग की जरूरत थी। लोग योग भूल गए थे। 

देश में सबसे ज्यादा योग को लोकप्रियता दिलाने में बाबा रामदेव का हाथ है। बाबा ने हम सब भारतवासियों को जगाने का काम किया। सीएम ने बताया कि एक वक्त ऐसा था जब सभी लोग अपने हाथों के नाखून घिसते दिखाई देते थे। सच तो ये है कि आपने लोगों के बीच में योग लाने का काम किया है। योग आ जाएगा तो हम अनुशासन में रहेंगे।

80,000 लोगों को मिलेगा रोजगार

राज्य सरकार के प्रवक्ता ने बताया कि 455 एकड़ क्षेत्र में स्थापित किये जा रहे इस पार्क से प्रदेश में 1600 करोड़ रुपये का निवेश होगा। इसके कार्यशील होने के उपरान्त 8,000 लोगों को सीधे तौर पर रोजगार मिलेगा, जबकि लगभग 80,000 लोगों को परोक्ष रूप से रोजगार मिलेगा।
 
पार्क से होंगे कई फायदे

इस पार्क के अन्तर्गत कृषि आधारित उत्पादों, खाद्य उत्पाद, हर्बल उत्पाद, पशु आहार दुग्ध उत्पाद एवं औषधीय उत्पाद की इकाइयां तथा रिसर्च एण्ड डेवलपमेण्ट सेण्टर की स्थापना की जाएगी। पार्क में स्थापित की गयी खाद्य प्रसंस्करण इकाई प्रतिदिन 400 टन फल एवं सब्ज़ियों का प्रसंस्करण करेगी, जबकि इसमें जैविक गेहूं का इस्तेमाल करते हुए प्रतिदिन 750 टन आटा भी तैयार किया जाएगा। इस पार्क की स्थापना से इस क्षेत्र की ऊसर एवं कम उपजाऊ जमीनों में ज्वार, बाजरा एवं मोटे अनाजों के उत्पादन को भी बढ़ावा मिलेगा, जिससे किसानों की सकल आय में वृद्धि होगी।
 
बाजार की मुख्यधारा से जुड़ेंगे किसान

फूड पार्क की स्थापना से जहां एक ओर कृषि कार्य में विविधता आएगी, वहीं दूसरी ओर किसानों को उनकी उपज का उचित मूल्य भी मिलेगा। इसके साथ ही, युवाओं का कौशल विकास होगा और स्थानीय व्यापार को भी बढ़ावा मिलेगा। साथ ही, खाद्य प्रसंस्करण की आधुनिक तकनीक से भी स्थानीय लोग वाकिफ होंगे। इसके अलावा, पब्लिक प्राईवेट पार्टनरशिप से सम्पूर्ण आर्थिक गतिविधियों को बढ़ावा मिलेगा। इस परियोजना का मुख्य उद्देश्य स्थानीय किसानों को बाजार की मुख्यधारा से जोड़ना भी है।

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned