लखनऊ मध्य विधानसभा ग्राउंड रिपोर्ट : रविदास के साथ व्यापारी, जानिये किसका पलड़ा है भारी ?

Lucknow, Uttar Pradesh, India
लखनऊ मध्य विधानसभा ग्राउंड रिपोर्ट : रविदास के साथ व्यापारी, जानिये किसका पलड़ा है भारी ?

2014 चुनाव में मोदी ने वोटिंग मशीनों में सेटिंग कराकर चुनाव जीत लिया

Rohit Singh
लखनऊ।
अमीनाबाद की खूबसूरत शाम। जरदोजी की दुकानों पर ग्राहकों की लंबी कतार और रोज की तरह शाम को यहाँ का गुलजार बाजार। इन सबके बीच चुनावी मौसम का भी असर था और थोड़ी ही देर में यूपी के सीएम अखिलेश यादव की जनसभा लखनऊ मध्य से समाजवादी पार्टी के प्रत्याशी और मौजूदा विधायक रविदास मेहरोत्रा के समर्थन में होने वाली थी। लोग मंच के सामने कुर्सियों पर बैठकर अखिलेश यादव का इंतजार कर रहे रहे थे और कांग्रेस-सपा के क्षेत्रीय नेता मंच से सपा के विकास कार्यों के कसीदे गढ़ रहे थे।

aminabad market 

इन सबके बीच बहराइच जिले के गजाधरपुर गाँव के निवासी वली मोहम्मद जोकि पेशे से मजदूर हैं। अपनी थकान भरी निगाहों को चाय की चुस्कियों से तरोताजा करने की कोशिश के साथ बड़ी ध्यान से नेताओं के भाषण को सुन रहे हैं। यूपी चुनाव को लेकर उनसे बात करने पर वली मोहम्मद की ओर से अजीबो गरीब खुलासा किया जाता है। वली मोहम्मद का कहना है कि 2014 चुनाव में मोदी ने भले ही वोटिंग मशीनों में सेटिंग कराकर चुनाव जीत लिया हो लेकिन इस बार अखिलेश की ही जीत होगी। मोदी ने पूरी तरह बेईमानी करके चुनाव जीता।

aminabad market

जब उनसे पूछा गया कि आपको ये कैसे पता चला तो वली मोहम्मद कहते हैं कि दिल्ली से सेटिंग हुई थी। मेरा एक दोस्त बता रहा था। मैं तो हमेशा साइकिल पर ही वोट डालता हूँ चाहे जो खड़ा हो। मुसलमानों की असली रहनुमा समाजवादी पार्टी ही है।

aminabad market

रैली देखने आये चौक निवासी ज्ञानेंद्र नाथ त्रिपाठी कहते हैं कि इस बार भाजपा प्रत्याशी ब्रजेश पाठक जीतेंगे। शिया मुस्लिम भी उन्हें समर्थन कर रहा है। उनका व्यवहार अच्छा है। सपा इस सीट पर गेम से बाहर है। लड़ाई बसपा प्रत्याशी राजीव दीक्षित और ब्रजेश पाठक के बीच है। हालांकि बसपा को कभी इस सीट पर कामयाबी नहीं मिल पायी है।

रैली में आये अमीनाबाद के रवि यादव कहते हैं कि क्षेत्र का मुस्लिम ब्रजेश पाठक को वोट देगा। अब ट्रेंड बदल रहा है। मुसलमान अब  जाति-धर्म छोड़कर विकास को वोट करना पसंद कर रहा है।

अवधेश शाह भले ही अखिलेश की जनसभा में आये हों लेकिन वह समर्थन मोदी का करते हैं। उन्होंने कहा कि भले ही भाजपा का मुख्यमंत्री कोई दूसरा बनता है लेकिन सरकार मोदी ही चलाएंगे। उनकी नीतियां अच्छी है। 

aminabad market

कैसरबाग निवासी चाँद मियाँ कहते हैं कि भले ही इस सीट पर मारूफ खान और रविदास मेहरोत्रा दोनों लड़ रहे हों लेकिन इससे रविदास को कोई फर्क नहीं पडेगा। मारूफ की जमानत जब्त होने के खतरा है। मुस्लिम उन्हें ही वोट करेगा। मोहम्मद राशिद कहते हैं कि अखिलेश ने मुसलमानों के लिए बहुत काम किया है। बीएसपी और सपा की ही लड़ाई है।

अमीनाबाद के रंजीत कहते हैं कि रविदास मेहरोत्रा जनता के नेता हैं। वह हमेशा लोगों के सुख-दुःख में खड़े रहते हैं। रात-बिरात चाहे जो समय हो वह जनता की सुनते हैं। मारूफ खान का कोई प्रभाव क्षेत्र में नहीं है।

डालीगंज के महबूब अली कहते हैं कि रविदास ने व्यापारियों के लिए बहुत काम किया है। जितनी बार वह जेल गए हैं, उनमें ज्यादातर व्यापारियों के हितों के लिए गए हैं। पटरी दुकानदारों के लिए अपनी सरकार के खिलाफ खड़े हुए हैं। व्यपारियों का पुलिस उत्पीडन के खिलाफ उन्होंने सड़क तक संघर्ष किया है। इस बार भी उनकी जीत तय है।

फिलहाल सपा व्यपारियों और मुस्लिम वोट के भरोसे जहाँ दूसरी बार इस सीट पर जीतने को आतुर हैं वही भाजपा अपना पुराना युग (2007 तक भाजपा जीतती रही है ) इस सीट पर कायम करना चाहती है। जबकि बसपा पहली जीत के लिए हर जतन में जुटी हुई है।

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned