जापान को भी भाया लखनऊ का दशहरी 

Ashish Pandey

Publish: Apr, 21 2017 05:08:00 (IST)

Lucknow, Uttar Pradesh, India
जापान को भी भाया लखनऊ का दशहरी 

आल इंडिया मैंगो ग्रोवर्स एसोसिएशन के अध्यक्ष इंसराम अली ने कहा कि हर साल अमेरिका और यूरोप जैसे शहरों में आम का एक्सपोर्ट बढ़ता जा रहा है। अब जापान से भी इसकी डिमांड आने लगी है। 

लखनऊ. महिलाबाद का दशहरी आम अब जापान को भी भाने लगा है। यहां का आम अब जापान जाएगा। महिलाबाद का आम अभी तक मध्य पूर्व के देशों और खाड़ी देशों में सप्लाई होता था। अब जापान में भी यहां के आम की डिमांड है। आल इंडिया मैंगो ग्रोवर्स एसोसिएशन के अध्यक्ष इंसराम अली ने कहा कि हर साल अमेरिका और यूरोप जैसे शहरों में आम का एक्सपोर्ट बढ़ता जा रहा है। अब जापान से भी इसकी डिमांड आने लगी है। 
एसोसिएशन को सरकार से इस बात की शिकायत है कि एक्सपोर्ट किया जाता है उसके लिए सरकार की कोई एजेंसी नहीं है इससे जानाकरी के अभाव में आम के सही दाम निर्धारित नहीं हो पाते है। उन्होंने बताया कि रिश्तेदार, दोस्त या इंटरनेट के माध्यम से ही आम के दाम तय हो रहा है। वहीं आम के मूल्य भी समय से नहीं मिल पाते हैं। इससे परेशानी होती है। 

यूपी मंडी परिषद की डिप्टी डायरेक्टर अंजनी कुमार श्रीवास्तव ने बताया कि सरकार की ओर से कवायतें की जा रहीं हैं। १३ रुपए प्रति किलोग्राम सब्सिडी जो एक्सपोर्ट करते हैं उन्हें दी जाती है। 


कब कितना उत्पादन 
-2016 में 70.56 मैट्रिक टन आम लखनऊ और 26.13 मैट्रिक टन सहरानपुर से एक्सपोर्ट हुआ था। दशहरी आम के साथ चौसे की भी खूब मांग है। 
-पूरे यूपी में 2.63 लाख हेक्टेयर क्षेत्र में आम का उत्पादन होता है।

इन जिलों में होता है सबसे अधिक उत्पादन
सहारनपुर, मुजफ्फरनगर, बिजनौर, बागपत, मेरठ, ज्योतिबाफूलेनगर, बुलंदशहर, हरदोई, सीतापुर, बाराबंकी, लखनऊ, उन्नाव, प्रतापगढ़, बनारस और फैजाबाद में सबसे अधिक आम का उत्पान होता है। 

इस साल होगी बंपर पैदावार
देश में इस साल आम की बंपर पैदावर होने की उम्मीद है। वहीं इससे कीमत भी सामान्य रहने की उम्मीद जताई जा रही है। साथ ही भारत आम का निर्यात भी बड़े पैमाने पर करेगा। 
सरकारी निकाय एपिडा ने कहा कि भारत का आम का निर्यात चालू वित्त वर्ष में पिछले साल के स्तर को पार कर सकता है और चालू वित्त वर्ष में 50,000 टन के स्तर को छू सकता है, जिसका कारण निर्यात गुणवत्ता वाले इस फल की मजबूत मांग और आपूर्ति है। पिछले साल देश ने 45,730 टप आम का निर्यात किया था। सरकार के अनुमान के अनुसार इस साल आम का उत्पादन 1.92 करोड़ टन होने का अनुमान है जबकि पिछले वर्ष 1.86 टन था। 

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned