राहत की उम्मीद कम, बढ़ेगी गलन

Prashant Srivastava

Publish: Jan, 13 2017 02:00:00 (IST)

Lucknow, Uttar Pradesh, India
राहत की उम्मीद कम, बढ़ेगी गलन

राजधानी लखनऊ में ठंड का कहर जारी है। शुक्रवार को भी न्यूनतम तापमान चार डिग्री तक पहुंच गया। मौसम विभाग की मानें तो अभी अगले चार दिन गलन जारी रहेगी।

लखनऊ. राजधानी लखनऊ में ठंड का कहर जारी है। शुक्रवार को भी न्यूनतम तापमान चार डिग्री तक पहुंच गया। मौसम विभाग की मानें तो अभी अगले चार दिन गलन जारी रहेगी। आंचलिक मौसम विज्ञान केंद्र के निदेशक जेपी गुप्ता का कहना है कि उत्तरी पश्चिमी हवाओं और पहाड़ों पर बर्फबारी के चलते लखनऊ में गलन बढ़ी है। अगले कुछ दिनों तक यह गलन और शीतलहरी और बढ़ेगी। साथ ही न्यूनतम तापमान में भी गिरावट दर्ज होगी।

11 से ज्यादा जिलों में तापमान 5 डिग्री से कम

प्रदेश में 11 से ज्यादा जिलों में तापमान 5 डिग्री से कम रहा। कानपुर सिटी व चुर्क का 2-2 डिग्री, शाहजहांपुर का 2.4 डिग्री, फुर्सतगंज का 2.6 डिग्री, कानपुर आईएएफ में 3, बाराबंकी का न्यूनतम तापमान 4 डिग्री सेल्शियस रहा।पर्वतीय इलाकों में हुई बर्फबारी और बारिश से मैदानी इलाके भी कांप उठे हैं। शीतलहर के चलते पारा लगातार गिर रहा है। यूपी में सबसे ठंडा सहारनपुर रहा जहां न्यूनतम तापमान 0.5 डिग्री रिकॉर्ड किया गया। यहां बुधवार को न्यूनतम तापमान शून्य डिग्री था।वहीं, लखनऊ में गुरुवार को न्यूनतम पारा 1.5 डिग्री सेल्शियस रिकॉर्ड हुआ था । 9 जनवरी 2013 के बाद जनवरी में अब तक यह सबसे कम तापमान दर्ज हुआ है। बिजनौर में न्यूनतम तापमान 1.2 डिग्री, आगरा में 1.7 डिग्री तो मुजफ्फरनगर में 1.9 डिग्री सेल्शियस रिकॉर्ड हुआ। मौसम विभाग ने चेतावनी जारी की है कि आने वाले दिनों मे शीतलहरी व गलन बढ़ेगी, जिससे तापमान में और गिरावट आएगी।

कोहरा हुआ तो गिरेगा पारा


क्लाईमेट एक्सपर्ट प्रफेसर ध्रुवसेन सिंह ने बताया कि मौसम साफ होने से न्यूनतम तापमान और नहीं गिरेगा। हालांकि अब अगर कोहरा पड़ा तो पारा शून्य तक गिर सकता है। उन्होंने बताया कि आसमान साफ होने की वजह से दिन में सूरज की रोशनी और ऊर्जा दोनों मिल रही है। इससे दिन का तापमान अधिक कम नहीं हुआ है। तापमान में और अधिक गिरावट तभी होगी जब गर्मी का प्रभाव कम होगा।

तेज हवा का कारण बर्फबारी

प्रो. सिंह ने बताया कि वर्तमान समय में सीजनल, परमानेंट और लोकल तीनों हवाएं चल रही हैं। सीजनल हवाएं पहाड़ी क्षेत्रों में प्रभावी हैं, इससे बर्फबारी हो रही है। इसकी वजह से स्थाई यानी पछुआ हवाएं ज्यादा ठंडी हैं। इनकी रफ्तार भी 20 किमी प्रति घंटे की है। यह हवाएं शहर में चलने वाली स्थानीय हवाओं से मिलकर उनका भी तापमान गिरा रही हैं। इन सभी के मिलने से विंड चिल इफेक्ट हो रहा है, जिससे दिन का तापमान कम होने के बाद भी पारा 1.5 डिग्री तक पहुंच सका है।शीतलहर के चलते अवध के इलाकों में भी जबरदस्त ठंड रही। बहराइच और बाराबंकी में तो ठंड से दो लोगों की मौत हो गई।

कई ट्रेनें कैंसिल


रेलवे ने 20 ट्रेनें महीने भर के लिए कैंसल कर दी हैं। इससे लाखों लोगों के पहले से कराए गए रिजर्वेशन कैंसल हो जाएंगे। इसके पहले ये ट्रेनें 17 दिसम्बर से 15 जनवरी तक कैंसल की गई थीं।रेलवे बोर्ड ने जनता एक्सप्रेस (14265/14266) को रद कर दिया है। इसके अलावा वाराणसी व लखनऊ से हरिद्वार गंगा स्नान के लिए जाने वाले हजारों लोगों की उम्मीदों पर भी पानी फिर गया है। वहीं वाराणसी से जम्मू जाने वाली बेगमपुरा एक्सप्रेस (12237/12238) को भी 15 फरवरी तक कैंसल कर दिया गया है। इसके अलावा अवध असम एक्सप्रेस (15909/15910), छपरा-मथुरा एक्सप्रेस (15107/15108), गोरखपुर-आनंद विहार एक्सप्रेस (15057/15058), मऊ-आनंद विहार एक्सप्रेस (15025/15026), लखनऊ जंक्शन-आनंद विहार डबल डेकर एक्सप्रेस (12583/12584), लिच्छवी एक्सप्रेस (14005/14006) एक्सप्रेस 16 फरवरी तक नहीं चलेगी। इनके अलावा बरौनी-लखनऊ एक्सप्रेस (15203/15204) हफ्ते में छह दिन ही चलेगी। दूसरी ओर पहले से रद चल रही कई मेमू व पैसेंजर ट्रेनों का कैंसलेशन भी 15 फरवरी तक बढ़ा दिया गया है।

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned