मोदी के इस फैसले से माया, अखिलेश और सोनिया की बोलती हो गई बंद!

Lucknow, Uttar Pradesh, India
मोदी के इस फैसले से माया, अखिलेश और सोनिया की बोलती हो गई बंद!

पीएम ने लिया ऐसा फैसला विरोधी रह गए दंग। 

लखनऊ. पीएम नरेंद्र मोदी ने ऐसा फैसला लिया की विरोधी भी सन्न रह गए और विरोध करने की उनकी हिम्मत शायद ही हो सकती है। 17 जुलाई को राष्ट्रपति पद के लिए चुनाव होने वाला है। काफी समय से यह कयास लगाया जा रहा था कि अगला राष्ट्रपति कौन होगा। वहीं विपक्ष दल एकजुट होकर भाजपा और एनडीए पर दबाव बनाने की कोशिश कर रहे थे, लेकिन पीएम मोदी ने ऐसा फैसला लिया की विरोधियों की बोलती बंद हो गई। 

राष्ट्रपति चुनाव को लेकर विरोधी लाबबंद हो रहे थे। कांग्रेस, सपा, बसपा, राजद सहित भाजपा विरोधी दल एकजुट होकर राष्ट्रपति उम्मीदवार घोषित करना चाहते थे, लेकिन भाजपा ने उनके इस मंसूबे पर पानी फेर दिया है। पीएम नरेंद्र मोदी ने ऐसे व्यक्ति को एनडीए की ओर से राष्ट्रपति पद का उम्मीदवार बनाया की विरोधी भी हक्के बक्के रह गए। एनडीए ने रामनाथ कोविंद को राष्ट्रपति पद के लिए अपना उम्मीदवार बनाया है। रामनाथ कोविंद इस समय बिहार के राज्यपाल है। 

इसलिए विरोध करना होगा मुश्किल
रामनाथ कोविंद दलित वर्ग से आते हैं। पीएम नरेंद्र मोदी ने उनको राष्ट्रपति पद का उम्मीदवार घोषित कर सबको हैरान कर दिया है। दलित वर्ग के व्यक्ति को राष्ट्रपति का उम्मीदवार बनाने के बाद मायावती, सोनिया और अखिलेश यादव का विरोध कर पाना आसान नहीं होगा। 

माया को दिया मात 
एनडीए ने राष्ट्रपति पद के लिए रामनाथ कोविंद को उम्मीदवार बनाकर मायावती को तगड़ा झटका दिया है। मायावती जिस भाजपा और पीएम मोदी को दलित विरोधी बताती रही हैं वही भाजपा एक दलित को देश का राष्ट्रपति बनाने जा रही है। ऐसे में भाजपा ने यह चाल चल के विरोधियों को करारा जबाव दिया है। 
नजरें 2019 पर 
रामनाथ कोविंद को राष्ट्रपति पद का उम्मीदवार घोषित कर भाजपा ने एक तीर से कई निशाने साधे हैं। रामनाथ कोविंद दलित वर्ग से आते हैं। आपको बतादें कि यूपी में दलितों की संख्या सबसे अधिक है। यूपी में 22 प्रतिशत दलित हैं। अभी दलितों का वोट मायावती का माना जाता है। लेकिन अब भाजपा ने ऐसे ट्रंप कार्ड खेला है जिससे मायावती को तगड़ा झटका लगा है।  

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned