अमर सिंह का बड़ा बयान, कहा- मैं सपा का झंडू बाम, पार्टी में अब मुलायम की नहीं चलती

Lucknow, Uttar Pradesh, India
अमर सिंह का बड़ा बयान, कहा- मैं सपा का झंडू बाम, पार्टी में अब मुलायम की नहीं चलती

अगर मुलायम सिंह यह कह दें कि मैंने अखिलेश यादव के विरुद्ध एक शब्द भी कभी कहा हो, तो मैं सजा भुगतने को तैयार हूं।

लखनऊ. समाजवादी पार्टी से राज्यसभा सांसद अमर सिंह फिर सुर्खियों में हैं। नोटबंदी के मुद्दे पर अमर सिंह खुलकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के सपोर्ट में आ गए हैं। एक अखबार को दिये इंटरव्यू में नेताजी से मुलाकात पर बोलते हुए अमर सिंह ने कहा कि नोटबंदी का मैंने जो समर्थन किया है, लोग उसके गलत राजनीतिक मायने निकाल रहे हैं। उस बारे में नेताजी से बात हुई। कुछ लोग बिना वजह नोट बंदी का विरोध कर रहे हैं। नोटबंदी के मुद्दे पर मुलायम सिंह ने मुझसे कहा कि काले धन के खात्मे का हम भी समर्थन करते हैं। मुलायम सिंह ने नोटबंदी का विरोध नहीं किया है। उन्होंने शादी में होने वाली दिक्कत, किसान को खाद और बीज की दिक्कत, 2000 के नोट के छुट्टे ना मिलने की दिक्कत और गांवों में एटीएम में नोट ना पहुंचने जैसी समस्याओं की बात कही है।

'मैंने किसी दल के फंड का प्रबंधन नहीं किया'
अमर सिंह ने कहा कि मैं पीएम मोदी को धन्यवाद देता हूं, क्योंकि उन्होंने नोटबंदी की। मोदी ने एक अवसर सबको दिया कि कालेधन से मुक्त हो जाइए, किसी को कुछ नहीं कहूंगा। चेतावनी भी दी कि नहीं किया तो खून के आंसू रुलाऊंगा। लोगों ने कहा कि ये जुमले हैं। अब जब मोदी ने उनके खिलाफ फैसला लिया तो लोग सड़क पर उतर आए हैं। जहां तक मेरा सवाल है तो मैंने किसी दल के फंड का प्रबंधन किया ही नहीं। अमर सिंह ने कहा कि बिहार और दिल्ली की पराजय के बाद यूपी में अगर बीजेपी नहीं आती है, तो मोदी के राजनीतिक व्यक्तित्व को बड़ा झटका लगेगा। यूपी में जीत बीजेपी के लिए जरूरी है। मेरा मानना है कि पहली बार मोदी ने गरीब और अमीर के बीच ध्रुवीकरण किया है। पीएम ने जो 50 दिन का समय मांगा है, अगर इस 50 दिन में स्थिति नियंत्रित हो गई, तो निश्चित रूप से इसका फायदा उन्हें मिलेगा।

'नोट बंदी का मुद्दा चुनावी नहीं'
अखिलेश सरकार के अंदर करप्शन पर बोलते हुए अमर सिंह ने कहा कि मैं इस मुद्दे पर कुछ नहीं बोलूंगा। लेकिन बहुत कुछ सामने आना चाहिए। अमर सिंह ने कहा कि नोट बंदी का मुद्दा यूपी चुनाव के लिए नहीं है, क्योंकि यूपी के लिए इतना बड़ा कदम कोई नहीं उठाएगा। वहीं अखिलेश की नाराजगी पर अमर सिंह कुछ भी बोलने से बचते नजर आए। एमर सिंह ने कहा कि मैं इस पर कुछ बोलना नहीं चाहता, क्योंकि मुलायम सिंह ने मुझे भाई कहा है। तो वे मेरे भाई के बेटे हैं। मुलायम सिंह ने मेरे कहने पर अखिलेश को अध्यक्ष बनाया और शिवपाल को हटाया। तो शिवपाल ने तो मुझे गालियां नहीं दीं। अबकी बार अखिलेश की जगह शिवपाल अध्यक्ष बन गए, अब इसमें मेरी क्या भूमिका है। अगर मुलायम सिंह यह कह दें कि मैंने अखिलेश यादव के विरुद्ध एक शब्द भी कभी कहा हो, तो मैं सजा भुगतने को तैयार हूं।

'मैं सपा का झंडू बाम'
कांग्रेस के साथ गठबंधन पर अमर सिंह ने कहा कि समाजवादी पार्टी में मेरी हैसियत जीरो बट्टा सन्नाटा है। मैं एसपी की राजनीति का घोषित झंडूबाम हूं। लेकिन फिर भी मैंने गठबंधन की पहल की। मुलायम भी गठबंधन चाहते हैं। लेकिन रामगोपाल यादव गठबंधन नहीं चाहते हैं। अखिलेश यादव को भी लगता है कि उन्होंने इतना विकास कर लिया कि सारी सीटें उन्हें ही मिल जाएंगी। गठबंधन इसी कारण से नहीं हुआ। अमर सिंह ने कहा कि मैं बहुत दुख के साथ कहना चाहूंगा कि मुलायम सिंह की सारी आज्ञाओं का पालन पार्टी में अब नहीं हो रहा है। 

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned