विधवाओं को 3 महीने की एक साथ मिलेगी पेंशन, हट गयी अधिकतम उम्र

Lucknow, Uttar Pradesh, India
विधवाओं को 3 महीने की एक साथ मिलेगी पेंशन, हट गयी अधिकतम उम्र

60 वर्ष की अधिकतम उम्र की सीमा को खत्म कर दिया गया है।


लखनऊ. सरकार की ओर से पति की मृत्यु बाद उनकी पत्नियों को भरण-पोषण और जीवन स्तर में सुधार के लिए सरकार हर महिने तीन सौ रुपये पेंशन देती है। 60 तक की उम्र की सीमा तक के विधवाअों को सरकार विधवा पेंशन देती है। अब इस योजना में व्यापाक बदलाव किए गए हैं। 60 वर्ष की अधिकतम उम्र की सीमा को खत्म कर दिया गया है। अब 18 साल से अधिक उम्र की सभी पात्र विधवाओं को सरकार पेंशन देगी। भले ही उनके बच्चे बालिग हों या नाबालिग। इसके चलते दो लाख तक की सालाना आय वाले परिवार भी विधवा पेंशन के दायरे में लाए गए हैं।

बता दें कि पहले शहरी क्षेत्र में 56 हजार और ग्रामीण क्षेत्र में 46 हजार रुपये सालाना इनकम वाले परिवारों की विधवाएं ही इस योजना में शामिल हो पाती थीं।


अब तक इतने लाभार्थी

विधवा पेंशन योजना उत्तर प्रदेश सरकार के 2016-17 के आंकड़ों के अनुसार, पेंशनर्स लाभार्थी लगभग 17 लाख 20 हजार हैं। इनमें सामान्य महिलाएं 2.38 लाख, मुस्लिम भागादारी 2.03 लाख, ओबीसी 7.89 लाख, एएसी 4.64 लाख और एसटी 0.10 लाख है।

वहीं विधवा पेंशन का लक्ष्य 17 लाख से बढ़ाकर 23.50 लाख कर दिया है। फिलहाल इन्हे 500-500 रुपये महीना पेंशन दी जाएगी। इसी लक्ष्य के अनुसार जिलों में पेंशन के फॉर्म भरवाने के निर्देश दिए गए हैं। तीन-तीन महिने की पेंशन एक साथ दी जाएगी। यानी मई में अप्रैल, मई व जून की पेंशन एक साथ मिलेगी। तो जुलाई में जुलाई, अगस्त व सितंबर, अक्तूबर में अक्तूबर, नवंबर व दिसंबर और जनवरी में जनवरी, फरवरी व मार्च की पेंशन दी जाएगी।

अॉनलाइन होगा आवेदन

विभाग ने विधवा पेंशन फॉर्म भरने की ऑनलाइन सुविधा शुरू कर दी है। जिससे पात्र महिलाएं ऑनलाइन ही फॉर्म भरकर अपने दस्तावेजों को भी स्कैन कर फॉर्म भेज सकेंगे। इससे सीधे उनका आवेदन संबंधित अधिकारी के पास पहुंच जाएगा। फर्जीवाड़ा रोकने के लिए अब सभी लाभार्थियों को आधार नंबर से लिंक किया जाएगा। विभाग पात्र महिलाओं को यह सुविधा देने के प्रयास कर रहा है। पेशंन प्रकरण हर हाल में चार महीने में निस्तारित करने होंगे। विधवा पेंशन के ऑनलाइन आवेदन महिला कल्याण विभाग की वेबसाइट (www.mahilakalyan.up.nic.in) पर करना होगा। आवेदन पत्र स्वयं एवं कॉमन सर्विस सेंटर के जरिए भरे जाएंगे।

विधवा पेंशन के आवेदन से लेकर इसकी स्वीकृति तक की सूचना एसएमएस के जरिए लाभार्थियों की दी जाएगी। पहला एसएमएस ऑनलाइन आवेदन सबमिट होने पर आएगा। दूसरा एसएमएस बीडीओ/एसडीएम द्वारा जांच के बाद जिला प्रोबेशन अधिकारी को आगे बढ़ाने या फिर रिजेक्ट करने पर आएगा।

तीसरा एसएमएस जिला स्वीकृति एवं अनुश्रवण समिति के आवेदन पत्र स्वीकार करने या अस्वीकार करने पर आएगा। यदि पीएफएमएस से लाभार्थी का डाटा अस्वीकार होता है, तो उसका भी एसएमएस आएगा। बैंक खाते में पेंशन की राशि भेजने पर भी एसएमएस भेजा जाएगा।

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned