मार्केटिंग से बदली जाएगी यूपी के प्राइमरी स्कूलों की इमेज, लगेंगे बड़े-बड़े होर्डिंग

Prashant Srivastava

Publish: Jul, 18 2017 03:54:00 (IST)

Lucknow, Uttar Pradesh, India
मार्केटिंग से बदली जाएगी यूपी के प्राइमरी स्कूलों की इमेज, लगेंगे बड़े-बड़े होर्डिंग

प्राइमरी शिक्षा में यूपी की तस्वीर बदलने के लिए प्रदेश सरकार ने कमर कस ली है। सरकारी स्कूल भी अब दाखिले के लिए निजी स्कूलों की तरह प्रचार करेंगे।

लखनऊ. प्राइमरी शिक्षा में यूपी की तस्वीर बदलने के लिए प्रदेश सरकार ने कमर कस ली है। बेसिक शिक्षा परिषद के सरकारी स्कूल भी अब दाखिले के लिए निजी स्कूलों की तरह प्रचार करेंगे। लखनऊ के बेसिक शिक्षा विभाग की ओर से शहर में होर्डिंग्स फ्लेक्स बोर्ड लगवाए जाएंगे, जिसमें सरकारी स्कूलों में दाखिले के लिए प्रचार प्रसार किया जाएगा। विभाग ने होर्डिंग्स फाइनल कर दी है।  इस बात की जानकारी लखनऊ के बेसिक शिक्षा अधिकारी प्रवीण मणि त्रिपाठी ने दी।

बीएसए प्रवीण मणि त्रिपाठी ने बताया कि जो होर्डिंग फाइनल की गई हैं इसमें इसमें सीएम योगी आदित्यनाथ के साथ विभाग के अन्य मंत्रियों की भी फोटो होगी। उनके मुताबिक, लोगों को सरकारी स्कूलों मिलने वाली सुविधाओं के बारे में जानकारी भी कम है। इसलिए हमने लोगों को ज्यादा से ज्यादा जानकारी देने के लिए यह तरीका अपनाया जा रहा है। बेसिक स्कूलों की इमेज बदलना बेहद जरूरी है।

ड्रेस बदलना भी इस ओर एक कदम

बीएसए प्रवीण मणि त्रिपाठी के मुताबिक बेसिक स्कूलों की ड्रेस बदलना भी बेसिक स्कूलों की इमेज बदलने की ओर पहला कदम था। शिक्षा विभाग की ओर से स्कूल के बच्चों की ड्रेस का कलर कत्थई और हल्का भूरा फाइनल किया गया था। अब सरकारी स्कूल के बच्चों की ड्रेस अब कत्थई कलर की पेंट और हल्के भूरे रंग की शर्ट है। ड्रेस का कलर अब राज्य के सभी जिला शिक्षा अधिकारियों के पास पहुंचाया गया है ताकि नए सत्र में बच्चों को नई यूनिफॉर्म जल्द से जल्द उपलब्ध हुईं।

सरकारी स्कूल स्कूलों के बच्चों के लिए ड्रेसकोड सिर्फ कक्षा 6 से लेकर 12 कक्षा तक ही लागू होता है जबकि कक्षा 1 से लेकर 5 तक के बच्चों के गणवेश की छूट रहेगी। शिक्षा विभाग ने लगभग 20 साल के बाद सरकारी स्कूल की ड्रेस में परिवर्तन तो किया मगर ये ड्रेस सरकारी स्कूल के बच्चों को खुद के पैसो से ही लेनी पड़ी।

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned