41 लाख लोगों के बीच दिखाया अखिलेश यादव को आइना कहा, नाकाम है अखिलेश सरकार

Lucknow, Uttar Pradesh, India
41 लाख लोगों के बीच दिखाया अखिलेश यादव को आइना कहा, नाकाम है अखिलेश सरकार

सीएम अखिलेश यादव से नाराज़ हैं प्रदेश का हज़ारों युवक

लखनऊ.सीएम अखिलेश यादव को एक युवक ने 41 लाख जनता के बीच नाकाम अखिलेश युवा सरकार के नाम से संबोधित कर दिया। बुधवार को पांच कालिदास मार्ग में सीएम अखिलेश राष्ट्रिय खाद्य सुरक्षा योजना के तहत स्मार्ट राशन कार्ड का  वितरण पांच कालिदास में कर रहे थे। तब सीएम अखिलेश के सोशल मीडिया अकाउंट पर कार्यक्रम की फोटो जारी की गई। इस फोटो को देखते ही उनके लिए युवक का गुस्सा ऐसा भड़का की उसने अपना दर्द  कुछ इस तरह बयां किया।

अवध कुमार सिंह ने अखिलेश यादव के सोशल मीडिया अकाउंट जिससे 41 हज़ार लोग जुड़े हुए हैं सभी के सामने अखिलेश सरकार को नाकाम घोषित कर दिया।
Akhilesh Yadav Social Media

कुछ इस तरह अवध कुमार का दर्द शब्दों में झलका

उत्तर प्रदेश लोक सेवा आयोग अभी तक होम्योपैथिक चिकित्साधिकारी 2013 का 177 पद, का साक्षात्कार नहीं करा पाया है और न ही इस सरकार में कराने का मंशा है।

माननीय उच्च न्यायालय के याचिका संख्या 16959/2016 डॉ. शिव विनायक त्रिपाठी, दिनांक 25 मई 2016 को निर्णय आ जाने के बाद भी उत्तर प्रदेश लोक सेवा आयोग साक्षात्कार नही करा रहा है। और ना ही छात्रो को कोई अस्वासन दे रहा है। बल्कि जाने पर गोल मोल घुमा देते है। छात्रों ने आयोग में दो बार ज्ञापन भी दिया जिसका कोई भी सकारात्मक नतीजा नहीं निकला।

हम सभी होम्योपैथ के साथ आयोग और इस सरकार का ये सौतेला ब्यवहार दुर्भाग्यपूर्ण है। और उनके भविष्य के साथ मजाक है। जब कि होम्योपैथी का मंत्रालय माननीय मुख्यमंत्री जी के पास है। अपने पाच साल के कार्य काल में एक दिन भी इस विभाग पर नजर डाले होते तो आप को वास्तविक्ता पता चलता।

होम्योपैथिक चिकित्साधिकारी के 500 से भी ज्यादा पद खली है 400 से भी ज्यादर होम्योपैथिक चिकित्सालय बंद होने के कगार पर है। और आने वाले साल में 400 से भी ज्यादे चिकित्सक रिटायरमेन्ट हो रहे है

पिछली सरकार में अलग से होम्योपैथिक मंत्री था। और अपने पांच साल के कार्य काल में तीन बार विज्ञापन निकाला था। और सारे पद भरा गया था। ये 177 पद उसी सरकार की देंन है।
1)145 पद
2)28 पद महिला
3)275 पद
.....बहुत से RMO के भी पद आये थे।
फरवरी में विज्ञापन और ऑक्टूबर तक साक्षात्कार हो जाते थे। लेकिन ये सरकार न कोई विज्ञापन न कोई साक्षात्कार अपने पांच साल के कार्य काल में करा पाया है।
UPPSC पर लगभग 5 लाख से ज्यादे छात्रों का नजर रहता है और लाखों होम्योपैथ आने वाले विधान सभा चुनाव में सबक सिखायेंगे।
और छात्रों की बद दुआ पुरे सपा परिवार का नाश कर देगा।
और तो और तीन होम्योपैथिक कॉलेज छोड़ कर सभी कॉलेज का मान्यता भी समाप्त हो गया।

मायावती सरकार में आए थे पद

अखिलेश सरकार में होम्योपैथी चिकित्सा को लेकर अनदेखे व्यवहार से खिन्न युवक ने लिखा की मायावती सरकार में होम्योपैथ के लिए 117 पदों पर लोगों को अपॉइंट किया गया था।

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned