वक्त पर नहीं पहुंचती पुलिस तो शहर की चकाचौंध में गुम हो जाती बच्चीयां

deepak dilliwar

Publish: Jan, 14 2017 12:34:00 (IST)

Mahasamund, Chhattisgarh, India
वक्त पर नहीं पहुंचती पुलिस तो शहर की चकाचौंध में गुम हो जाती बच्चीयां

तीन बच्चियां खेलते-खेलते रेल पर सवार हो गईं और पहुंच गईं रायपुर। मासूम बच्चियां राजधानी की भीड़ में कहीं खो जातीं या आज के हालात में गलत तत्वों के हाथ लगकर अंधेरी गलियों में धकेल दी जातीं

महासमुंद. यहां की तीन बच्चियां खेलते-खेलते रेल पर सवार हो गईं और पहुंच गईं रायपुर। मासूम बच्चियां राजधानी की भीड़ में कहीं खो जातीं या आज के हालात में गलत तत्वों के हाथ लगकर अंधेरी गलियों में धकेल दी जातीं, लेकिन बागबाहरा पुलिस के जवानों ने उन्हें बचा लिया।

बागबाहरा के वार्ड क्रमांक 8 कर्रापारा निवासी बबला सिंह की बेटी हिना (7) बीते 11 जनवरी की शाम से अचानक लापता हो गई। पुलिस ने गुमइंसान कायम कर पतासाजी शुरू की। पुलिस को पता चला कि हिना सिंह पड़ोसी पायल (13) की छोटी बहनों हिना और निशा (3-4 साल) के साथ खेल रही थी। वह दोनों भी गायब हैं। पायल के रिश्तेदार रायपुर में रहते हैं और उनकी दोनों बहनें एक-दो बार वहां परिवार के साथ जा चुकी हैं।

एसआई संदीप माडिले, आरक्षक नरेन्द्र ठाकुर और कविता यादव की टीम हिना की मां आरती सिंह और पायल को लेकर फौरन रायपुर रवाना हुई। टीआई बलबीर सिंह के मार्गदर्शन में टीम ने रायपुर रेलवे स्टेशन के करीब तीनों बच्चियों को ढूंढ निकाला। झोपडिय़ों की बेटियों की तलाश में पुलिस ने जो तत्परता दिखाई उसकी सराहना हो रही है।

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned