मंदसौर में लग रहे प्रदेश के दूसरे सबसे बड़े 250 मेगावाट के सोलर पॉवर प्लांट से सिर्फ मध्यप्रदेश को मिलेगी बिजली

vikram ahirwar

Publish: Feb, 17 2017 11:38:00 (IST)

Mandsaur, Madhya Pradesh, India
मंदसौर में लग रहे प्रदेश के दूसरे सबसे बड़े 250 मेगावाट के सोलर पॉवर प्लांट से सिर्फ मध्यप्रदेश को मिलेगी बिजली

31 मार्च तक पूरा होगा सोलर पावर प्लांट

रतलाम/मंदसौर..
मध्यप्रदेश का दूसरा सबसे बडा 250 मेगावाट का सौर ऊर्जा संयंत्र (सोलर पॉवर प्लांट) पूर्णता के अंतिम चरण में है। इसी सिलसिले में मप्र सरकार के नवीन एवं नवकरणीय ऊर्जा विभाग के प्रमुख सचिव तथा नवीन एवं नवकरणीय ऊर्जा विकास निगम के आयुक्त मनु श्रीवास्तव और एनटीपीसी नई दिल्ली के निदेशक (तकनीकी) अनिल कुमार झा गुरुवार की सुबह हेलीकॉप्टर से रूनिजा पहुंचे। यहां श्रीवास्तव व झा ने कहा कि सौर ऊर्जा संयंत्र के पूरा होने पर इसके जरिए उत्पादित होने वाली बिजली की आपूर्ति केवल मध्यप्रदेश को ही की जाएगी। सौर ऊर्जा संयंत्र का निर्माण कार्य 31 मार्च तक पूरा होगा। निर्माण कार्य पूरा होते ही पॉवर जनरेशन का काम भी प्रारंभ होगा। उन्होंने यहां स्थापित चारों कंपनियों के पॉवर प्लांट्स की वर्किंग साईट्स का विजिट किया। इस प्लांट का उद्घाटन माह अप्रेल में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी करेंगे।

देश की 4 नामी कंपनियां कर रही कार्य
मप्र सरकार के नवीन एवं नवकरणीय ऊर्जा विभाग मंत्रालय द्वारा मंदसौर जिले की सुवासरा तहसील के ग्राम रूनिजा के क्षेत्र में स्थापित किए जा रहे इस 250 मेगावाट के सौर ऊर्जा संयंत्र के निर्माण का कार्य नेशनल थर्मल पॉवर कार्पोरेशन (एनटीपीसी) को दिया गया हैं। एनटीपीसी द्वारा सौर ऊर्जा संयंत्र के निर्माण के लिए चार पॉवर जनरेशन कम्पनियों को कान्ट्रेक्ट दिया गया हैं, जिसके तहत लैंको पावर को 100 मेगावाट, टाटा पावर को 50 मेगावाट, बीएचईएल (भेल) पावर को 50 मेगावाट एवं विक्रम सोलर पावर को 50 मेगावाट सोलर पावर जनरेशन का काम एनटीपीसी ने दिया है। इन चारों पावर जनरेशन कंपनियों ने सुवासरा तहसील के ग्राम रूनिजा एवं इससे लगे ग्रामों क्रमश: गुर्जरखेड़ी और डोकरखेड़ी में अपने प्लांट्स स्थापित किए हैं। इस सोलर पावर प्लांट्स के निर्माण कार्य की भारत सरकार (प्रधानमंत्री कार्यालय) और मप्र सरकार द्वारा बेहद उच्चस्तर पर माईक्रो मॉनीटरिंग की जा रही है, ताकि पावर प्लांट का निर्माण कार्य समय पर पूरा हो सके।

सेंट्रल मॉनीटरिंग एंड कंट्रोल स्टेशन्स का किया लोकार्पण
प्रमुख सचिव श्रीवास्तव और एनटीपीसी के निदेशक (तकनीकी) झा ने चारों पावर जनरेशन कंपनियों के पदाधिकारियों एवं साईट इंजीनियर्स को मार्च 2017 के अंत तक प्रोजेक्ट का संपूर्ण कार्य पूरा करने के निर्देश दिए। अधिकारियों ने चारों ही कंपनियों के पावर प्लांट्स के सेंट्रल मॉनीटरिंग एंड कंट्रोल स्टेशन्स का लोकार्पण भी इस मौके पर किया। इन वरिष्ठ अधिकारियों ने प्लांट्स के हर सेक्टर में जाकर मुआयना किया और कम्पनी के पदाधिकारियों से कार्य प्रगति की जानकारी ली। कंपनी पदाधिकारियों ने वरिष्ठ अधिकारियों को निर्माण कार्य समय सीमा में ही पूर्ण करने का आश्वासन दिया। मटेरियल सप्लाय में हो रही देरी की जानकारी मिलने पर एनटीपीसी के निदेशक ने जल्द ही एक बडी मीटिंग करने की बात कही।

मार्च में कर देंगे मप्र सरकार को हैंडओवर
इस मौके पर प्रमुख सचिव श्रीवास्तव ने बताया कि एनटीपीसी के सहयोग से मंदसौर जिले में 250 मेगावाट के सोलर पावर प्लांट सहित मप्र सरकार रीवा जिले के गुढ में 750 मेगावाट के सोलर पावर प्लांट की स्थापना कर रही है। इसके अलावा नीमच, शाजापुर, आगर मालवा, छतरपुर, मुरैना व अन्य जिलों में भी सोलर पावर प्लांट लगाने की ओर भी मप्र सरकार अग्रसर है। बहुत जल्द हमारा प्रदेश ऊर्जा उत्पादन में सरप्लस पोजीशन में होगा। एनटीपीसी के निदेशक (तकनीकी) झा ने बताया कि मंदसौर जिले में 250 मेगावाट के पावर प्लांट के अलावा एनटीपीसी राजस्थान में भी 160 मेगावाट का पावर प्लांट स्थापित करने जा रही है। उन्होंने बताया कि हम इसी साल मार्च के अंत तक मंदसौर जिले में बन रहे पावर प्लांट को मप्र सरकार को हैंडओवर कर देने का प्रयास कर रहे है।    
                         
सोलर प्लांट से सटे इलाको का होगा विकास
प्रमुख सचिव श्रीवास्तव व एनटीपीसी के निदेशक (तकनीकी) झा ने बताया कि सोलर प्लांट का कार्य पूर्ण होने के बाद नियमानुसार सोलर प्लांट से सटे इलाको का विकास किया जाएगा। इसमें स्कूल, बगीचे सहित ग्रामों में सौंदर्यीकरण के कार्य किए जाएंगे। हेलिकॉप्टर सुबह 10 बजे ग्राम धामनिया दीवान क्षेत्र में बनाए गए हेलीपेड पर उतरा। इसके बाद प्रमुख सचिव व अन्य अधिकारी रोड मार्ग से होते हुए ग्राम रुनिजा पहुंचे। यहां से शाम करीब 4 बजे भोपाल के लिए रवाना हुए। इस मौके पर सुवासरा विधायक हरदीपसिंह डंग, कलेक्टर स्वतंत्र कुमार सिंह, एनटीपीसी के जनरल मैनेजर्स एस रैना एवं एसके दत्ता सहित नगर परिषद शामगढ़ के अध्यक्ष अर्जुन सोनी, एसडीएम सीतामऊ व्हीपी सिंह सहित चारों कंपनियों के वरिष्ट पदाधिकारी मौजूद थे।

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned