बाहुबली मोख्तार अंसारी गैंग की हिस्ट्री शीट फिर खोली गयी, शिकंजा कसने की तैयारी

Mau, Uttar Pradesh, India
बाहुबली मोख्तार अंसारी गैंग की हिस्ट्री शीट फिर खोली गयी, शिकंजा कसने की तैयारी

बाहुबली मोख्तार अंसारी गैंग पर कसा पुलिस का शिकंजा, नए जुड़े सदस्यों की भी हो रही खोजबीन।

मऊ. अपने लम्बे चैड़े कद, दमदार आवाज, सटीक निशाना, अपराध जगत में चलता सिक्का और सियासत पर मजबूत पकड़। बताने वाले बाहुबली मोख्तार अंसारी के बारे में कुछ इसी तरह बताते हैं। अपराध की दुनिया से निकलकर सियासत में गदम जमा चुके अंसारी के गैंग की पकड़ पूर्वांचल पर अभी भी बदस्तूर है। योगी सरकार इस पकड़ को ढ़ीला करने का मन बना चुकी है। इसके लिये मोख्तार अंसारी गैंग की हिस्ट्रीशीट फिर खोली गयी है। मोख्तार अंसारी के साथ ही मऊ जिले में सक्रिय दूसरे गैंग की हिस्ट्रीशीट भी खंगाली जा रही है। इसका मकसद इन गैंग्स पर नकेल कसना बताया जा रहा है।





दरअसल सीसम योगी सरकार बनने के पहले ही पीएम नरेन्द्र मोदी ने मऊ पहुंचकर बिना नाम लिये मोख्तार अंसारी पर निशाना साधा था और कहा था कि हम बाहुबलियों को जेल में मौज नहीं करने देंगे। इसके बद जब सीएम योगी सरकार बनी तो मोख्तार अंसारी का जेल बदल दिया गया। उन्हें बांदा जेल में शिफ्ट कर दिया गया। सरकार और पुलिस का ऐसा दावा है कि वहां मोख्तार को सामान्य कैदी की तरह रखा गया है काई स्पेशल ट्रीटमेंट पिछली सरकारों की तरह नहीं मिल रहा।




पर कहा जा रहा है कि अभी भी अंसारी समेत यूपी के सभी बाहुबलियों का गैंग काम कर रहा है। अब पुलिस इनके गैंग की कमर ताड़ने की कवायद में जुट गयी है। इसी के तहत मऊ पुलिस ने बाहुबली मोख्तर अंसारी गैंग की हिस्ट्रीशीट एक बार फिर खोली है। इसके अलावा पुलिस ने पूर्व ब्लॉक प्रमुखप्रमुख रमेश सिंह काका, सुजीत सिंह बुढ़वा व लालू यादव जैसे माफिया गैंग्स पर भी पुलिस की नजरें टेढ़ी हो गई हैं। इन सबकी हिस्ट्रीशीट पुलिस खंगाल रही है।




पुलिस अधीक्षक की मानें तो जिले में कुल 16 माफिया गैंग्स रजिस्टर्ड हैं। 15 की हिस्ट्रीशीट खोली जा चुकी है। इमें से तीन ऐसे अपराधियो के गैगं है जिनको एनएसए के तहत निरुद्ध किया जा चुका है। लालू यादव और सुजीत सिहं बुढवा गैगं में शामिल ऐसे सदस्य जो वर्तमान में जेलों में बंद हैं उनके खिलाफ भी कार्रवाई की जा रही है। जिले के सभी थानों से उनके आपराधिक रिकॉर्ड मंगवाए जा रहे हैं। इसके साथ उन गैंग को माफिया के रुप में चिन्हित कर गैगंस्टर एक्अ में कार्यवायी करते हुए उनकी सम्पत्तियों को जब्त करने की कार्रवाई भी चल रही है।




पुलिस अधीक्षक के मुताबिक सभी की डिटेल तैयार कराई जा रही है, ताकि पुलिस के पास उन सभी अपराधियों का रिकॉर्ड मौजूद रहे। उन्होंने बताया कि मुख्तार अन्सारी रमेश सिहं काका, लालू यादव व सुजीत सिहं बुढवा आदि गैंग के सक्रिय सदस्य जिनकी हिस्ट्रीशीट नहीं खुली है, खोली जा रही है। आगे भी इनके खिलाफ कार्यवायी जारी रहेगी। इसके पहले भी कुछ गैंग्स की हिस्ट्रीशीट खोली जा चुकी है। जो छूट गए हैं उनके खिलाफ कार्यवाही की जा रही है। कहा कि उन लोगों को भी चिन्हित कर उनके खिलाफ भी कार्यवाही की जा रही है।

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned