शहर के बीचोबीच महिला को जबरन गाड़ी में खींच किया गैंगरेप

Noida, Uttar Pradesh, India
शहर के बीचोबीच महिला को जबरन गाड़ी में खींच किया गैंगरेप

घटना की कहानी पढ़कर प्रशासन पर आ जाएगा गुस्सा...

मेरठ। मेरठ शहर के बीचों-बीच अतिव्यस्त चौराहे के निकट एक महिला को कार सवार युवकों ने गाड़ी में खींच लिया और उससे गैंगरेप की घटना को अंजाम दिया। हैवानियत करने के बाद युवकों ने महिला को हाईवे पर फेंक दिया। किसी तरह से बदहवास महिला ने पुलिस को सूचना दी जिस पर पुलिस अधिकारियों में अफरा तफरी मच गई। वहीं पीड़ित महिला को डॉक्टर के पास भिजवाते हुए मामला दर्ज कर कार्रवाई शुरू कर दी।

जानकारी के अनुसार बेगमपुल चौराहे पर एक महिला अपने बच्चे के इलाज की दुहाई देकर रंपये मांग रही थी कि तभी गाड़ी में सवार चार युवक आए और उन्होंने महिला को 100 रुपये देने के लालच देते हुए गाड़ी के पास बुलाया। इस दौरान उसे जबरन गाड़ी में खींच लिया। इससे पहले महिला शोर मचाती गाड़ी में सवार युवकों ने उसका गला दबा लिया तथा वहां से गाड़ी को दौड़ा लिया। पीड़िता के अनुसार उक्त युवक उसे गाड़ी में उसे रात भर घुमाते रहे तथा उसके बारी-बारी से दुराचार करते रहे।

सुबह के समय गाड़ी सवार उसे हाईवे पर फेंककर भाग गए। होश में आने पर पीड़िता ने पल्लवपुरम् में रहने वाले अपने पति को फोन किया। जिस पर पति मौके पर पहुंचा तथा मामले में कार्रवाई के लिए गुरुवार दिनभर कभी कंकरखेडा थाने तो कभी सदर थाने भटका किंतु किसी ने उसकी न सुनी तथा उन्हें चलता कर दिया। इसके बाद पीड़ित परिवार ने एसएसपी जे.रविन्द्र गौड के सरकारी सीयूजी नंबर पर फोन कर उन्हें घटना की जानकारी दी। जिस पर एसएसपी ने थानाध्यक्ष कंकरखेडा प्रशांत कपिल को हडकाया तो पुलिस हरकत में आई तथा उन्होंने तुरन्त महिला को डॉक्टरी जांच के लिये भिजवाया।

जानकारी के मुताबिक जांच में महिला के साथ रेप होने की पुष्टी हो गई। थाना पुलिस ने तुरन्त मुकदमा दर्ज करते हुए आरोपियों की तलाश शुरू कर दी। वहीं थानेदार ने इस बात को भी कहा कि चूंकी महिला सदर थाना क्षेत्र से अगवा की गई थी, इसलिए मामले को सदर थाने में ट्रांसफर कर दिया जाएगा। वहीं थानाध्यक्ष सदर पंकज पंत ने कहा कि वह दुराचारियों की तलाश कर रहे हैं। उधर पीड़िता ने कहा कि कार सवार युवक पूरी तरह से नशे में धुत थे और वह उसे किसी मकान पर भी ले गए थे। जहां पहले से ही कुछ युवक मौजूद थे। बताते हैं कि पीड़िता का पति फल बेचने का काम करता है और उनका बच्चा काफी दिनों से बीमार है। जिसके इलाज के लिए वह कुछ दिनों से रुपये मांग रही थी।

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned