नालों की सफार्इ के तमाम दावों को बहा ले गर्इ पहली बारिश

meerut uttar pradesh, india
नालों की सफार्इ के तमाम दावों को बहा ले गर्इ पहली बारिश

करीब दस घंटे बिजली-पानी आपूर्ति भी चौपट रही

मेरठ। सोमवार की रात बारह बजे से सुबह आठ बजे तक हुर्इ बारिश के कारण शहर में जगह-जगह जलभराव रहा। बिजली-पानी आपूर्ति भी ठप रही। बुधवार को मनाए जाने वाले विश्व योग दिवस के लिए भी कर्इ मैदानों में पानी भर गया है। यहां होने वाले योग कार्यक्रम शिफ्ट किए जा सकते हैं। हालांकि मंगलवार की सुबह के बाद धूप निकल आयी है।

पहली बारिश से दावे बहे

मानसून की आहट सोमवार की शाम हो गर्इ, इसके चलते लगातार आठ घंटे चली बारिश से लोगों को गर्मी से राहत मिली है। हालांकि उसके लिए उन्हें परेशानी भी उठानी पड़ी। कर्इ जगह जलभराव हुआ है। नालों की सफार्इ के तमाम दावों को यह बारिश बहा ले गर्इ। छाेटी-छोटी गलियों में जलभराव हुआ। सालभर में जो नाले साफ नहीं किए गए थे, मेयर हरिकांत अहलूवालिया ने 20 दिन पहले ही 20 जून तक साफ करवाने का दावा किया था, लेकिन यह काम समय पर पूरा नहीं हुआ। शहर के पुराने इलाकों में पानी भर गया। इस स्थिति को देखते हुए मंगलवार को भी नाले की सफार्इ आैर कूड़ा उठाने का काम चला।

दस घंटे बिजली आपूर्ति ठप

रात बारह से सुबह दस बजे तक शहर की बिजली आपूर्ति पूरी तरह ठप रही। परतापुर आैर मोदीपुरम ट्रांसमिशन से शहर में आने वाली लाइनें टूटने से शहर की आपूर्ति चौपट हो गर्इ। इन्वर्टर ठप हो गए। बिजली आपूर्ति का असर जल आपूर्ति पर भी पड़ा आैर लोगों को पीने के पानी तक के लिए परेशान होना पड़ा। बिजली आपूर्ति सामान्य होने के बाद पानी मिल पाया।

पानी भरने से योग पर असर

बुधवार को अंर्तराष्ट्रीय योग दिवस है। इसे मनाने के लिए कुछ दिन पहले से ही अनेक कार्यक्रम शुरू हो गए हैं। विश्वविद्यालय, जीमखाना, सूरजकुंड पार्क, गांधी बाग, स्पोटर्स समेत कर्इ जगह रोजाना सुबह योग की क्लासें चल रही हैं। मंगलवार को बारिश के कारण इन पर असर पड़ा। बारिश के कारण कुछ जगह योग कार्यक्रम नहीं हो पाए। हालांकि पहले ही कम लोग आए थे, जो आए उन्हें शेड या छत के नीचे याेग क्रियाएं की।

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned