पीएम मोदी के सपने को साकार करने में जुटी आधी आबादी

Mirzapur, Uttar Pradesh, India
पीएम मोदी के सपने को साकार करने में जुटी आधी आबादी

महिलाओं को स्वच्छता अभियान से जोड़ने की अनोखी पहल

मिर्जापुर. जिले में चल रहे स्वच्छता अभियान की कमान सम्हाला आधी आबादी ने।जहाँ एक तरफ प्रशासनिक तौर पर स्वच्छता आंदोलन की कमान महिला सीडीओ के हाथ मे है। तो अब महिलाओ की ऐसी टीम भी तैयार हो गयी है जो इस स्वच्छता अभियान को अपने हुनर से घर-घर तक ले जाने का कार्य करेगी। 


स्वच्छता अभियान की मुहिम में शामिल होने वाली  इन महिलाओ की टीम को बाकायदे  तैयार कर उन्हें  प्रशिक्षण भी दिया जा रहा है। तमाम कोशिस के बाद भी जिले में  धीमी गति से चल रहे स्वच्छता अभियान के तहत   ग्रामीण  इलाकों में बनने वाले शौचालय के समय पर पूर्ण नही होने से अभियान की तेजी प्रभावित होती है।

अभियान अपने तय समय पर पूरा होने के लक्ष्य से  पिछड़ता जा रहा था। जब जाँच  की गयी तो सच्चाई का पता   चला। अभियान के तहत शौचालय के समय पर न बनने का बड़ा कारण निर्माण कार्य मे लगे राजमिस्त्री की कमी होना है।जिसकी वजह से शौचालय  निर्माण में देरी होती है।समस्या के समाधान के लिए  जिले की महिला सीडीओ व आई ए एस अधिकारी  प्रियंका निरंजन ने अनोखी पहल की शुरुआत करने का फैसला लिया। 


इसके तहत पहली बाद प्रदेश में महिलाओ को सीधे स्वच्छता अभियान के तहत जोड़ने का फैसला किया गया।सीडीओ ने अभियान के तहत दो दिनों की कार्यशाला लगा कर आजीविका मिशन योजना के अंतर्गत 20 महिला राजमिस्त्री को  तैयार करने के प्रशिक्षण दे कर इन्हें शौचालय निर्माण के काम मे लगा कर स्वच्छता अभियान से जोड़ा गया।


इसके अलावा प्रत्येक ब्लाक में इसी तरह से  प्रशिक्षण कार्यक्रम आयोजित कर पाँच महिलाओ को राजमिस्त्री की ट्रेनिग दे कर इन्हें भी इस अभियान से जोड़ कर गाँवो में शौचालय निर्माण में कार्य मे भागीदारी के लिए सहयोग लिया जाएगा। फिलहाल महिलाओ की इस टीम ने काम करना शुरू भी कर दिया है। खुले में शौच मुक्त बनाने के लिए स्वच्छता अभियान के तहत सिटी ब्लाक में महिलाओ की यह टीम शौचायल निर्माण के कार्य मे लगी हुई है। 


अभियान से जोड़ने के लिए इस तरह के अभियान की शुरुआत करने वाली महिला सीडीओ प्रियंका निरंजन भी सफलता से खुश है उनका कहना है कि इससे महिलाए आर्थिक रूप से आत्मनिर्भर  बनेगी साथ ही महिलाओ के जुड़ने से स्वच्छता अभियान में तेजी आएगी।यह एक जनआंदोलन में तब्दील हो जाएगा। फिलहाल पीएम नरेंद्र मोदी की सबसे प्रिय इस योजना का भार जिले में महिलाओ ने अपने कंधों पर उठा लिया है।

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned