नोटबंदी के बाद कारों और कूड़ेदानों से बरामद हो रहे हैं करोड़ों रुपये

shiv shankar

Publish: Nov, 14 2016 02:23:00 (IST)

Miscellenous India
नोटबंदी के बाद कारों और कूड़ेदानों से बरामद हो रहे हैं करोड़ों रुपये

सरकार द्वारा 500 और 1000 रुपये के नोट अमान्य किए जाने के बाद रेलवे स्टेशन, कार की डिग्गियों और कूड़ेदानों से पुराने नोट बरामद किए जा रहे हैं।

पत्रिका वेब डेस्क, दिल्ली। सरकार द्वारा 500 और 1000 रुपये के नोट अमान्य किए जाने के बाद देश के विभिन्न हिस्सों से नोटों की खेप पकड़े जाने का सिलसिला जारी है। रेलवे स्टेशन, कार की डिग्गियों और कूड़ेदानों से पुराने नोट बरामद किए जा रहे हैं, पुलिस द्वारा पकड़े जाने पर उनका हिसाब कोई नहीं दे पा रहा है।

बिहार के दानापुर जंक्शन से एक करोड़ रुपये के साथ तीन गिरफ्तार
नोटबंदी के बाद सतर्क पटना रेल पुलिस ने बिहार में पूर्व मध्य रेलवे के दानापुर जंक्शन से रविवार को करीब एक करोड़ रुपये के साथ पति-पत्नी समेत तीन लोगों को हिरासत में ले लिया। पटना के पुलिस अधीक्षक (रेल) जितेन्द्र मिश्रा ने यहां बताया कि सटीक इनपुट मिली थी कि दानापुर जंक्शन पर नोटों की एक बड़ी खेप लेकर कुछ लोग उदना एक्सप्रेस ट्रेन से जाने वाले हैं। इसी आधार पर रेल पुलिस ने घेराबंदी कर पति-पत्नी के अलावा एक अन्य महिला को धर दबोचा। 

मिश्रा ने बताया कि इनके पास से 98 लाख 50 हजार रुपये के बड़े नोट बरामद किये गये। मिश्रा ने बताया कि बरामद नोट एक हजार और पांच सौ के हैं। उन्होंने बताया कि हिरासत में लिये गये लोगों में संतोष कुमार उसकी पत्नी मालती देवी और सोनी कुमारी शामिल हैं जो पटना शहर के मारुफगंज के निवासी है। पूछताछ में यह पता चला है कि रुपये की खेप लेकर वे लोग गुजरात जाने वाले थे। उन्होंने कहा कि हिरासत में लिये गये तीनों से नोटों के संबंध में सही जानकारी प्राप्त की जा रही है।

यूपीः एक हजार और पांच सौ के 35 लाख रुपये के साथ मेडिकल कालेज के डॉक्टर गिरफ्तार
उत्तर प्रदेश में सन्तकबीरनगर के खलीलाबाद कोतवाली क्षेत्र में एक हजार और पांच सौ के 35 लाख रुपये लेकर जा रहे एक सरकारी डाक्टर को रविवार को यहां हिरासत में ले लिया गया। पुलिस अधीक्षक शैलेश कुमार पाण्डेय ने बताया कि राष्ट्रीय राजमार्ग-28 पर हरैया के पास एक कार को रोकने का इशारा किया गया, लेकिन कार रोकने की बजाय चालक उसे भागकर ले जाने लगा। 

पुलिस ने बड़ी मशक्कत से कार को मगहर पुलिस चौकी के पास पकड़ लिया। तलाशी के दौरान उसकी डिक्की में 1000 और 500 के 35 लाख रुपए बरामद हुए। उन्होंने बताया कि कार में बैठे डाक्टर ओम प्रकाश सिंह को हिरासत में ले लिया गया। वह बीआरडी मेडिकल कालेज गोरखपुर में सर्जन हैं। पूछताछ पर डाक्टर ने बताया कि वह चिकित्सकीय उपकरण खरीदने के लिए कार से फर्म गये थे लेकिन वहां पुराने नोट लेने से इंकार कर दिया गया। इस कारण वह रुपया लेकर वापस गोरखपुर लौट रहे थे। आयकर विभाग की टीम इस सम्बन्ध में जांच कर रही है।

बंगाल में 1.6 करोड़ रुपये के साथ चार गिरफ्तार
पश्चिम बंगाल के उत्तरी दिनाजपुर जिले में छापे की कार्रवाई में अमान्य एक हजार रुपये के एक करोड़ 60 लाख रुपये जब्त कर कम से कम चार लोगों को गिरफ्तार किया गया है। राष्ट्रीय राजमार्ग 34 पर शनिवार देर रात निरीक्षण के दौरान पुलिस ने एक संदिग्ध कार को रोका और भारी मात्रा में अमान्य नोटों को बरामद किया। 

वाहन में मौजूद चार यात्री मनब बर्मन, संजय बर्मन, मदन चंद्र सरकार और सधान रॉय को इस संबंध में गिरफ्तार कर लिया गया। एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी ने बताया, 'स्थानीय पुलिस थाने के पुलिसकर्मी ने एक वाहन को रोका जो कोलकाता से राईगंज की ओर जा रहे थे। चौकी पर जांच के दौरान इससे एक हजार रुपये के एक करोड़ 60 लाख रुपये बरामद किये।' उन्होंने कहा, 'हमने कार चालक सहित चार यात्रियों को गिरफ्तार किया है और इस संबंध में जांच की जा रही है।'

कोलकाता में कूड़ेदान से दो बोरी 500 व 1000 रुपये के चिथड़े मिले
कोलकाता में कूड़ेदान से दो बोरी नोट बरामद हुए हैं। मामला यादवपुर इलाके के गोल्फ ग्रीन इलाके का है। रविवार सुबह गोल्फ ग्रीन के गोल्फ क्लब रोड स्थित कूड़ेदान में कचरा चुनने पहुंचे कुछ बच्चों की नजर 500 व 1000 रुपये के फटे नोट के टुकड़ों पर पड़ी, जो दो बोरियों में थे। कुछ बच्चे फटे नोट लेकर खेलने लगे। कुछ देर में ही वहां लोगों की भीड़ एकत्र हो गई। पुलिस भी पहुंची और नोटों से भरी बोरी कब्जे में ले लिया। जांच कर पता लगाया जाएगा कि जब्त नोट असली है या नकली।

हिमाचल में 25 लाख बरामद
हिमाचल के बनीखेत में पुलिस ने रविवार को चेक नाके के दौरान दो लग्जरी गाडि़यों से बड़ी संख्या में पांच सौ व हजार रुपये के प्रतिबंधित नोट बरामद किए हैं। चंबा की एक गाड़ी से 21 लाख 79 हजार रुपये बरामद किए, वहीं पंजाब के अमृतसर की एक गाड़ी से दो लाख 85 हजार रुपये बरामद किए। पुलिस ने जांच शुरू कर दी है। साथ ही आयकर विभाग को सूचित कर दिया गया है। जिन लोगों से उक्त धनराशि बरामद की गई है वे खुद को व्यापारी बता रहे हैं और इस राशि का भुगतान आगे करने की बात कह रहे हैं। लेकिन वे पुलिस को राशि के संबंध में जरूरी दस्तावेज मौके पर उपलब्ध नहीं करवा सके।

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned