ब्लास्ट के आरोपी अब्दुल करीम टुंडा की गला दबाकर हत्या की कोशिश

Yuvraj Singh

Publish: Nov, 30 2016 07:47:00 (IST)

Miscellenous India
ब्लास्ट के आरोपी अब्दुल करीम टुंडा की गला दबाकर हत्या की कोशिश

बम ब्लास्ट के आरोपी आतंकी अब्दुल करीम उर्फ टुंडा की करनाल जेल में कुछ कैदियोंं ने जमकर पिटाई कर दी

करनाल। पानीपत और सोनीपत मेें बम ब्लास्ट के आरोपी आतंकी अब्दुल करीम उर्फ टुंडा की बुधवार सुबह करनाल जेल में कुछ कैदियोंं ने जमकर पिटाई कर दी और उसकी गला दबाकर हत्या करने की कोशिश की। उसे ट्रॉमा सेंटर में उपचार के लिए ले जाया गया। वहां इलाज के बाद उसे फिर जेल में भेज दिया गया है।

टुंडा को पानीपत की अदालत मेंं पेशी के लिए लाया गया था और करनाल जेेल में रखा गया था। बताया जाता है कि सुुबह चाय पीने के दौरान उसकी हत्या के मामलों में करनाल जेल बंंद कुछ कैदियों से बहस होगी। विवाद बढऩे पर कैदियों ने टुंडा पर हमला कर दिया और उसकी जमकर पिटाई कर दी।

बताया जाता है कि उसकी गला दबाकर हत्या करने की कोशिश भी की गई। सुरक्षाकर्मियों ने उसे कैदियों की चंगुल से बचाया और उसे इलाज के लिए ट्रामा सेंटर ले गए। पहले टुंडा दिल्ली की तिहाड़ जेल में बंद था और मंगलवार को ही पानीपत की कोर्ट में सुनवाई के बाद उसे करनाल जेल में भेजा गया था। टुंडा के खिलााफ 37 मामले दर्ज हैंं।

1 फरवरी 1997 को पानीपत बस अड्डे पर एक बस में बम ब्लास्ट हुआ था। इसमं एक बच्चे की मौत हो गई थी और करीब 20 लोग जख्मी हो गए थे। इस बम ब्लास्ट में अब्दुल करीम उर्फ टुंडा का हाथ बताया गया था। टुंडा का देश भर में कई आतंकी हमले में हाथ था। काफी समय तक देश की सुरक्षा एजेंसियां उसकी तलाश में थी। वह पाकिस्तान भाग गया था। आखिरकार दिल्ली पुलिस की स्पेशल टीम ने अब्दुल करीम उर्फ टुंडा को नेपाल बॉर्डर से गिरफ्तार कर लिया था। इन दिनों वह दिल्ली की तिहाड़ जेल में बंद था। मंगलवार को उसे पानीपत कोर्ट में पेशी के लिए लाया गया था। अदालत मे पेश करने के बाद इस मामले पर 1 दिसंंबर को इस मामल की सुनवााई की तिथि दी गई थी और उसे करनाल जेल में रखे जाने के निर्देश दिए गए थे।

चाय पर हुई मर्डर के आरोपियों से बहस
थाना सदर पुलिस ने अब्दुल करीम टुंडा के बयान दर्ज कर लिए हैं, जिनके मुताबिक पता चला है कि टुंडा की चाय पीते वक्त दो अन्य कैदियों के साथ बहस हो गई, जिस दौरान आरोपियों ने टुंडा की गला दबाकर हत्या की कोशिश की है। टुंडा पर हमले के आरोपियों में एक पंजाब का अमनदीप है, जबकि दूसरे की पहचान जींद जिले के गांव नगूरां निवासी जोगिंदर के रूप में हुई है। ये दोनों मर्डर के मामलों में यहां बंद हैं।

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned