दार्जिलिंग हिंसा: उग्र हुआ आंदोलन, ममता ने कहा बड़ी साजिश

Miscellenous India
दार्जिलिंग हिंसा: उग्र हुआ आंदोलन, ममता ने कहा बड़ी साजिश

 दार्जिलिंग में 2 प्रदर्शनकारियों और एक असिस्टेंट कमांडेंट की मौत के बाद हिंसा और भड़क गई है। ममता ने प्रदर्शनकारियों पर तंज कसते हुए कहा कि ये बड़ी साजिश की जा रही है। 

दार्जिलिंग: दार्जिलिंग में 2 प्रदर्शनकारियों और एक असिस्टेंट कमांडेंट की मौत के बाद हिंसा और भड़क गई है। गोरखा जनमुक्ति मोर्चा ने सरकार के खिलाफ प्रदर्शन और तेज कर दिया है। एडीजी, ऑपरेशन, ने इस बात की पुष्टि की है। एडीजी, ऑपरेशन ने आगे कहा कि स्थिति को देखते हुए सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम भी किए जा रहे हैं। 


भूटान बॉर्डर सील
 दार्जिलिंग में चल रही झड़प में 36 पुलिसकर्मी घायल हुए जिनमें से 20 अस्पताल में भर्ती हैं। वहीं, 5 पुलिसकर्मियों को गोलीबारी से गंभीर चोंटे आई है और 2 घातक हथियार से गंभीर रूप से घायल हो गए हैं।  इससे पहले हिंसा को बढ़ते देख पश्चिम बंगाल के भूटान बॉर्डर को सील कर दिया गया है। वहीं, पुलिस ने जीजेएम के मीडिया सलाहकार बिक्रम राय को भी गिरफ्तार कर लिया है। 

ममता ने साजिश बताया
उधर पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने पूरे मामले नाराजगी व्यक्त करते हुए कहा कि प्रदर्शनकारी सुरक्षाबलों के साथ मारपीट कर रहे हैं। पत्रकारों को ब्लैकमेल किया जा रहा है। प्रदर्शनकारियों के पास इतने कम समय में हथियारों के लिए पैसे कहां से आए। उन्होंने कहा कि सरकार उनसे बात करने के लिए तैयार है लेकिन संविधान के दायरे में रखकर बातचीत संभव हो। 


एक दिन में इतने हथियार कहां से आए
उन्होंने बताया कि प्रदर्शन को लेकर दार्जिलिंग के कई अलग-अलग इलाकों में देशी-विदेशी पर्यटक फंसे हुए हैं।उन्होंने कहा इससे पूरे प्रकरण से देश की बदनामी हो रही है। सीएम ममता बनर्जी ने  सहायक कमांडेंट टीएम तमांग की मौत पर दुख व्यक्त किया। ममता ने कहा यह बहुत बड़ी साजिश है क्योंकि एक दिन में इतनी भारी संख्या में हथियार नहीं आ सकते हैं। 


जीजेएम प्रमुख ने लगाया आरोप
गोरखा जनमुक्ति मोर्चा ( जीजेएम) के प्रमुख ने आरोप लगाया कि पुलिस अवैध तरीके से समर्थकों के घर में घुसी और उन्हें प्रताड़ित किया गया। उनके मुताबिक पुलिस कार्रवाई में दो लोगों की मौत हो गई। जीजेएम प्रमुख ने कहा कि पुलिस की इस कार्रवाई से उनका आंदोलन और उग्र होगा।





चुनाव के समय हिंसा पर उतारू-ममता
सीएम ममता ने प्रदर्शनकारियों पर निशाना साधते हुए कहा कि पांच साल आपने सत्ता सुख का आनंद लिया और अब जब चुनाव आने वाले है तो हिंसा पर उतर आए हैं। ममता ने कहा कि आपने जनता का भरोसा खो दिया है। उन्होंने कहा कि प्रदशर्नकारी कोर्ट की आदेश को भी अनदेखा कर रहे हैं, कोर्ट ने बंद को अवैध बताया लेकिन प्रदर्शनकारियों को पता नहीं कहां से और कौन लोग समर्थन कर रहे हैं।


(जीजेएम) नेता ने ममता पर साधा निशाना
गौरतलब है कि शुक्रवार को गोरखा जनमुक्ति मोर्चा (जीजेएम) नेता बिमल गुरुंग ने ममता पश्चिम बंगाल की सीएम ममता बनर्जी पर निशाना साधा था। उन्होंने कहा था कि पुलिस प्रशासन ने ममता बनर्जी के आदेश पर मेरे घर और ऑफिस में अवैध तरीके से छापा मारा है। उन्होंने आगे कहा था कि इस तरीके के रवैये से लोकतंत्र खतरे में है।  बता दें कि जीजेएम राज्य में सीएम ममता बनर्जी की ओर से  बांग्ला भाषा को अनिवार्य करने के आदेश के बाद विरोध प्रदर्शन कर रहे हैं। 

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned