500 के नोट की ज्यादा छपाई के लिए कर्मचारियों को नए टारगेट और ज्यादा वेतन

Miscellenous India
500 के नोट की ज्यादा छपाई के लिए कर्मचारियों को नए टारगेट और ज्यादा वेतन

नासिक और देवास में छापे जा रहे 500 के नए नोट। लंच ब्रेक का समय घटाया। मार्च 2017 तक टारगेट तय किए।

नई दिल्ली. देशभर में 2000 रुपये के नए नोट तो पर्याप्त संख्या में आ गए हैं मगर 500 के नए नोट अभी कम संख्या में बैंकों तक पहुंच सके हैं। इनकी ज्यादा छपाई के लिए प्रिंटिंग प्रेस में 24 घंटे काम हो रहा है। कर्मचारियों को ज्यादा काम करने के लिए इंसेंटिव्स दिए जा रहे हैं। टारगेट तय किए गए। ओवर टाइम का पैसा देने का ऐलान किया गया है।

दरअसल, करंसी की छपाई का काम सिक्योरिटी प्रिंटिंग एंड ङ्क्षमटिंग कॉरपोरेशन ऑफ इंडिया लिमिटेड (एसपीएमसीआईएल) करती है। इस वक्त 500 के नए नोट की छपाई इसकी देवास (मध्यप्रेदश) और नासिक (महाराष्ट्र )स्थित प्रिंटिंग प्रेस में चल रहा है। यहां 3000 से अधिक कर्मचारी दिन -रात काम कर रहे हैं। इन्हें रिकॉर्ड छपाई के लिए कहा गया है। आलम यह है कि कर्मचारियों को दो घंटे का ब्रेक दिया जाता था उसका समय कम कर दिया गया है। यही नहीं, उन्हें अलग से लंच इंसेंटिव्स भी दिए जा रहे हैं।

10 हजार ज्यादा वेतन

नए इंसेंटिव केअनुसार, कर्मचारियों को मासिक वेतन में 10 हजार रुपये अतिरिक्त मिलेंगे। इसके अलावा मैनेजर और वरिष्ठ सुपरवाइजर को टारगेट पूरा करने पर सालाना सैलरी में 20 हजार से 30 हजार रुपये अतिरिक्त देने का ऐलान किया गया है। एसपीएमसीआईएल के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा कि हमने तमाम स्टाफ को कहा है कि वे मन से छपाई के काम में लगे जाएं क्योंकि यह देशहित का मामला है। उन्हें युद्ध स्तर पर इस काम में जुटने के लिए कहा गया है।

आंकड़े

- 01 करोड़ 500 के नए नोट रोजाना देवास में छप रहे
- 60 लाख नोट देवास प्रेस में छपते थे पहले
- 50 लाख 500 के नोट नासिक में छप रहे अब
- 30 लाख नोट नासिक प्रेस में छपते थे पहल

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned