इसलिए भारत के सामने पाक के परमाणु बम है बेकार, नहीं होगा देश का नुकसान

Sunil Sharma

Publish: Sep, 25 2016 10:01:00 (IST)

Miscellenous India
इसलिए भारत के सामने पाक के परमाणु बम है बेकार, नहीं होगा देश का नुकसान

उरी हमले के बाद हमारी सेना जरूर कड़ा जवाब देगी, हमारे सख्त रवैये को देखकर पाकिस्तानी खेमे में हलचल का दौर है

नई दिल्ली। उरी हमले के बाद हमारी सेना जरूर कड़ा जवाब देगी। लेकिन ये कब और कहां होगा इसका फैसला हम ही करेंगे। हमारे सख्त रवैये को देखकर पाकिस्तानी खेमे में हलचल का दौर है। वहां के कुछ नेता और कमांडर परमाणु हमले की जुबानी जंग पर उतारू हैं। इस प्रकार का गैरजिम्मेदराना रवैया पाकिस्तान की ओर से अकसर सामने आता रहता है।

पाक बखूबी जानता है ये बच्चों का खेल नहीं

परमाणु शक्ति संपन्न भारत की ओर से कभी इस प्रकार के गैरजिम्मेदराना बयान आपको कभी सुनाई नहीं देंगे। हमारा लोकतंत्र काफी परिपक्व है। भारतीय सेना भी इसी गौरवशाली परंपरा का पालन करती है। भारत ने हमेशा परमाणु बमों के पहले  इस्तेमाल नहीं (नो फस्र्ट यूज) करने की नीति का पालन किया है। और आगे भी करता रहेगा। जहां तक पाकिस्तान की ओर से परमाणु हमले की धमकी दी जाती है तो ये भभकी से ज्यादा कुछ नहीं है। एटम बम कोई बच्चों का खेल नहीं कि जब जी में आया तो फोड़ दिया। इससे भयंकर तबाही होती है। दुनिया में अब तक एक बार ही द्वितीय विश्व युद्ध के समय अमरीका ने इसे जापान पर गिराया था। इसके दुष्परिणाम अब तक देखे जा सकते हैं। पाकिस्तान ने अपना परमाणु कार्यक्रम चोरी से शुरू किया और इसे अंजाम भी इसी प्रकार के तरीकों से दिया है।

परमाणु हमले के बारे में पाकिस्तान की ओर से गैरजिम्मेदराना बयान आ सकते हैं, लेकिन हम शक्ति संपन्न परिपक्व देश हैं।
- जयप्रकाश नेहरा, पूर्व आर्मी डिप्टी चीफ, पीवीएसएम, एवीएसएम

आतंकियों के हाथ में पड़े तो होगी मुश्किल
अमरीकी विदेश मंत्रालय की हालिया रिपोर्ट के अनुसार पाकिस्तान के पास लगभग 120 एटमी हथियारों का जखीरा है। बड़ा खतरा है कि ये हथियार पाकिस्तान में सक्रिय आतंकी संगठनों के सरगनाओं की पहुंच में है। पाकिस्तानी प्रधानमंत्री नवाज शरीफ ने हाल में संयुक्त राष्ट्र में अपने संबोधन में कहा था कि उनका देश हथियारों की दौड़ में लिप्त नहीं होगा, लेकिन रक्षात्मक प्रतिरोध के लिए वह सभी प्रकार के उपाय उठाएगा।

इस बयान के संदर्भ में एक भारतीय रणनीतिकार का कहना है कि पाकिस्तानी एटमी जखीरे के कुछ बम भी यदि वहां के आतंकियों के हाथ लग गए तो बड़ी परेशानी पैदा हो सकती है। इसके घातक परिणाम हो सकते हैं। अमरीकी थिंकटैंक भी इस आशंका को पूर्व में कई बार दोहरा चुके हैं। पाकिस्तान ने हाल में हत्फ-9 मिसाइल का परीक्षण किया है। ये छोटी दूरी तक मार करने वाली मिसाइल परमाणु वारहैड्स को ले जाने में सक्षम है। भारत की परंपरागत सैन्य क्षमता को कुंद करने की नीयत से ही पाकिस्तान ने इस मिसाइल को विकसित किया है। पूर्व विदेश सचिव कंवल सिब्बल का मानना है कि पाकिस्तान की ओर से परमाणु हमले की बहुत कम आशंका है।

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned