इबोला सहायताकर्मी बने टाइम "पर्सन ऑफ द ईयर"

Miscellenous World
इबोला सहायताकर्मी बने टाइम

टाइम ने "पर्सन ऑफ द ईयर" इबोला वायरस पीडितों की तीमारदारी करने वाले सहायताकर्मियों को चुना है।

वॉशिंगटन। टाइम ने "पर्सन ऑफ द ईयर" 2014 के लिए इबोला वायरस पीडितों की तीमारदारी करने वाले सहायताकर्मियों को चुना है। टाइम ने कहा कि इस विश्वव्यापी बी मारी से लड़ने के लिए शुरू में सरकारें तक तैयार नहीं थी। यही नहीं डब्ल्यूएचओ भी इस बीमारी के खिलाफ लड़ने में टालमटोल कर रहा था। ऎसे समय में इबोला सहायताक र्मियों ने सीमित संसाधनों के होने के बावजूद इस बीमारी से लड़ने के ली पहल की।


इससे पहले टाइम मैग्जीन के पर्सन ऑफ द ईयर में ऑनलाइन वोटिंग की रेस में भारतीय पीएम नरेंद्र मोदी सबसे आगे चल रहे थे। हालांकि, मैग्जीन द्वारा सालाना खिताब के लिए चुने गए आठ लोगों की सूची में मोदी अपनी जगह नहीं बना सके और इस रेस से बाहर हो गए। टाइम मैग्जीन के संपादकों ने दुनियाभर के पचास नेताओं और मुख्य कार्यकारी अधिकारी (सीईओ) की सूची में कटौती करते हुए लोगों की संख्या आठ कर दी थी।


जिन आठ लोगों के नाम फाइनल की दौड़ में शामिल हुए थे, उनमें पॉप सिंगर टाइलर स्विफ्ट, रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन, फर्गुसन के प्रदर्शनकारी, ऎपल के सीईओ टिम कुक, अलीबाबा के संस्थापक जैक मा, एनएफएल कमिश्नर रॉजर गूडेल, इराकी राष्ट्रपति मसूद बारजानी और ईबोला वायरस से बीमार लोगों की तीमारदारी करने वाले सहायताकर्मी थे।

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned